भारत

कांग्रेस ने उप चुनाव के लिए तीन सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम की घोषणा की, किसी के पास डिप्लोमा, तो कोई है M.Sc पास

Gulabi
6 Oct 2021 5:43 AM GMT
कांग्रेस ने उप चुनाव के लिए तीन सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम की घोषणा की, किसी के पास डिप्लोमा, तो कोई है M.Sc पास
x
मध्य प्रदेश में 30 अक्टूबर को 3 विधानसभा और 1 लोकसभा सीट के लिए उप चुनाव होने हैं.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh by-election) में 30 अक्टूबर को 3 विधानसभा और 1 लोकसभा सीट के लिए उप चुनाव होने हैं. इन उप चुनाव के लिए कांग्रेस ने तीन सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कर दी है. खंडवा लोकसभा (khandwa loksabha seat) सीट से पूर्व विधायक राजनारायण सिंह पुरनी, जोबट विधानसभा सीट से महेश पटेल और रैगांव से कल्पना वर्मा को टिकट दिया गया है. पृथ्वीपुर से पहले ही नितेंद्र सिंह का नाम फाइनल कर दिया गया था.


रैगांव से कांग्रेस प्रत्याक्षी कल्पना वर्मा सतना से जिला पंचायत सदस्य हैं, वहीं, महेश पटेल आलीराजपुर के जिलाध्यक्ष हैं और नितेंद्र सिंह पूर्व मंत्री बृजेन्द्र सिंह राठौर के बेटे हैं. नितेंद्र ने होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा किया हुआ है.
पृथ्वीपुर से उपचुनाव में प्रत्याक्षी के रूप में चुना गया पूर्व मंत्री का बेटा
पृथ्वीपुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस ने पूर्व मंत्री बृजेन्द्र सिंह राठौर के बेटे नितेंद्र सिंह को उम्मीदवार घोषित किया है. नितेंद्र होटल कारोबारी भी है. पूर्व मंत्री बृजेन्द्र सिंह राठौर के कोरोना से निधन के बाद यह सीट खाली हुई थी. ब्रजेन्द्र सिंह 5 बार इसी क्षेत्र से विधायक चुने गए थे. नितेंद्र सिंह ने प्रारंभिक शिक्षा ग्वालियर से और फिर केंद्रीय विद्यालय भोपाल से हायर सेकेंडरी की है.

इसके बाद पूसा इंस्टीट्यूट से डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट किया है. नितेंद्र ओरछा में एक होटल अमरमहल का चलाते हैं. बता दें कि 2018 के विधानसभा चुनाव में नितेंद्र ने पिता बृजेन्द्र सिंह राठौर के समर्थन में प्रचार किया था. इसके बाद लगातार स्थानीय राजनीतिक कार्यक्रमों में भी भाग लेते रहे हैं.

युवाओं को रोजगार दिलाने का करूंगा काम
नितेंद्र का कहना है कि कांग्रेस पार्टी ने मुझ पर विश्वास जताया है. इसके लिए पार्टी का आभारी हूं. सिंह का कहना है कि यदि जनता का मुझे आशीर्वाद मिलता है, तो युवाओं को रोजगार दिलाने और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए प्रयास करूंगा.

रैगांव उम्मीदवार कल्पना वर्मा हैं M.SC पढी
जिला पंचायत सतना के वार्ड नंबर 2 से जिला पंचायत सदस्य कल्पना वर्मा पर कांग्रेस ने रैगांव उप चुनाव में दांव लगाया है. कल्पना साल 2018 के विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस की उम्मीदवार रही थी. वो जुगुल किशोर बागरी से करीब 18 हजार वोटों से हार गई थी. कल्पना को रैगांव में कांग्रेस का लोकप्रिय चेहरा माना जाता है. कल्पना वर्मा को कमलनाथ समर्थित माना जा रहा है. बता दें कि वर्मा ने मैथामैटिक्स में M.SC किया हुआ है.

राजनीति कल्पना को विरासत में मिली
कल्पना को राजनीति विरासत में मिली है. वो कांग्रेस की सक्रिय नेता हैं. अभी वो जिला पंचायत सदस्य हैं. सबसे खास बात यह है कि रैगांव में चौधरी समाज के करीब 40 हजार वोटर हैं. कांग्रेस इसी धड़े के साथ रैगांव जीतना चाहती है. बताया जाता है कि कमलनाथ ने पहले ही कल्पना को चुनावी तैयारी के संकेत दे दिए थे. उनका टिकट लगभग फाइनल था, बस औपचारिक घोषणा शेष थी.

जोबट पर महेश पर पार्टी ने जताया भरोसा
जोबट में कांग्रेस ने महेश पटेल पर भरोसा जताया है. महेश पटेल के पिता वेस्ता पटेल भी कांग्रेस के विधायक रहे हैं. उनके भाई मुकेश पटेल फिलहाल अलीराजपुर से विधायक हैं. इसके पहले महेश पटेल ने आलीराजपुर सीट से विधायक का चुनाव लड़ा था, लेकिन बीजेपी के नागर सिंह चौहान से चुनाव हार गए थे. 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने महेश पटेल के बजाय उनके भाई मुकेश पटेल को टिकट दिया और वह अलीराजपुर सीट से चुनाव जीतकर विधायक बने.

टिकट मिलने के बाद महेश पटेल ने कहा कि पार्टी ने विश्वास जताया है, उस पर खरा उतरने की कोशिश करूंगा. बता दें कि 12वीं तक पढ़े पटेल पेशे से एक किसान हैं.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta