भारत

CBI ने JEE मेन्स परीक्षा फर्जीवाड़ा मामले पर दिल्ली, पुणे समेत 19 ठिकानों पर मारा छापा

Kunti Dhruw
2 Sep 2021 5:22 PM GMT
CBI ने JEE मेन्स परीक्षा फर्जीवाड़ा मामले पर दिल्ली, पुणे समेत 19 ठिकानों पर मारा छापा
x
सीबीआई ने जेईई (मेन्स) परीक्षा 2021 में कथित अनियमितताओं को लेकर गुरुवार को देश भर में 19 स्थानों पर छापेमारी की है।

सीबीआई ने जेईई (मेन्स) परीक्षा 2021 में कथित अनियमितताओं को लेकर गुरुवार को देश भर में 19 स्थानों पर छापेमारी की है। इससे पहले सीबीआई ने इस मामले में एफिनिटी एजुकेशन प्राइवेट लिमिटेड और उसके निदेशकों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। केस दर्ज करने के बाद सीबीआई ने देश के अलग-अलग हिस्सों में छापेमारी की है।

एजेंसी ने एफिनिटी एजुकेशन प्राइवेट लिमिटेड और उसके निदेशक सिद्धार्थ कृष्णा, विशंभर मणि त्रिपाठी और गोविंद वार्ष्णेय के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इन पर आरोप है कि ये कथित तौर पर अपने दलालों व सहयोगियों और परीक्षा केंद्र पर तैनात कर्मचारियों और अन्य अज्ञात व्यक्तियों के साथ मिलकर जेईई की ऑनलाइन परीक्षा में हेराफेरी कर रहे थे।
सीबीआई प्रवक्ता आरसी जोशी ने कहा कि आरोपी व्यक्ति जेईई (मेन्स) की ऑनलाइन परीक्षा में हेरफेर कर रहे थे। ये लोग एनआईटी के टॉप कॉलेज में एडमिशन लेने वाले इच्छुक छात्रों से मोटी रकम लेकर हरियाणा के सोनीपत में एक चुने हुए परीक्षा केंद्र से रिमोट एक्सेस के माध्यम से आवेदकों के प्रश्न पत्र हल कर रहे थे।
आरसी जोशी ने यह भी आरोप लगाया कि आरोपी सुरक्षा के तौर पर देश के अलग-अलग हिस्सों से इच्छुक छात्रों की दसवीं और बाहरवीं की मार्कशीट, यूजर आईडी, पासवर्ड और पोस्ट डेटेड चेक अपने पास रखते थे। एक बार एडमिशन मिल जाने के बाद ये छात्रों से मोटी रकम वसूलते थे, जो कि 12 से 15 लाख के आसपास होता था।
एजेंसी की टीमों ने दिल्ली और एनसीआर, पुणे, जमशेदपुर, इंदौर और बैंगलोर सहित 19 स्थानों पर छापेमारी की, जिसमें 25 लैपटॉप, 7 कंप्यूटर, लगभग 30 पोस्ट डेटेड चेक के साथ-साथ अलग-अलग छात्रों की पीडीसी की मार्कशीट सहित भारी मात्रा में आपत्तिजनक दस्तावेज और उपकरण बरामद हुए। बिना किसी का नाम लिए जोशी ने कहा कि मामले में गुरुवार को कई लोगों से पूछताछ की गई। हिन्दुस्तान टाइम्स ने एफिनिटी के ऑफिस नंबर पर कॉल की लेकिन संपर्क नहीं हो सका।
Next Story