Top
भारत

मजदूर को ब्लैक फंगस: कभी हुआ ही नहीं कोरोना, MRI कराने पर हुई पुष्टि

Admin2
22 July 2021 8:02 AM GMT
मजदूर को ब्लैक फंगस: कभी हुआ ही नहीं कोरोना, MRI कराने पर हुई पुष्टि
x

फाइल फोटो 

डॉक्‍टर हैरान

जमशेदपुर के सदर अस्पताल में बुधवार शाम जिले का नौवां ब्लैक फंगस का मरीज मिला है। उसकी उम्र 40 वर्ष है। उसकी आंख को प्रभावित न कर फंगस ने उसके ब्रेन को प्रभावित किया है, जिससे उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। मरीज की स्थिति को देखते हुए उसे रिम्स रेफर किया जा रहा है। परसूडीह निवासी मरीज का कहना है कि उसे कोरोना कभी हुआ ही नहीं। उसने इसकी जांच भी नहीं कराई। तीन दिनों से उसके सिर में बहुत दर्द हो रहा था। उसे लग रहा था कि उसका सिर दर्द से फट जाएगा। उसके साथ ही उसकी आंख में भी जलन थी। दोपहर में वह सदर अस्पताल में इलाज के लिए गया जहां उसे भर्ती कर लिया गया।

सदर अस्पताल के चिकित्सक डॉ. विवेक केडिया के अनुसार, तत्काल ही उसकी स्थिति को देखकर उसका एमआरआई कराया गया, जिसमें म्यूकर माइकोसिस पॉजिटिव पाया गया। मरीज की आंख पर फंगस का असर कम है, लेकिन ब्रेन में इसका प्रभाव गया है।

इधर, उस मरीज के मुंह के अंदर का रंग बदला और चेहरे के हिस्से में सनसनी कम हो रही है। साइनस के मार्ग से फंगल संक्रमण है, जिससे जोर लगाने के साथ नाक में रुकावट हो रही है। यही साइनस के रास्ते ब्रेन तक गया। जिले में यह नौवां ब्लैक फंगस का मरीज है। टीएमएच में ब्लैक फंगस के सात मामले आए थे। इनमें से तीन पहले से ही गंभीर स्थिति में आए थे, जिनकी मौत हो चुकी है। इसके साथ ही एमजीएम अस्पताल में भी एक मरीज मिला था, ऑपरेट कर फंगस को हटाया गया और उसके बाद वह ठीक होकर गया।

मरीज टाटा मोटर्स में ठेका मजदूरी में काम करता है। उसके चेहरे में सूजन और उसके सिर दर्द, आंख में तकलीफ के बाद पहले उसे ईएसआई अस्पताल ले जाया गया था, वहां से दोपहर में उसे सदर अस्पताल में लाया गया जहां बुधवार शाम में उसके ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it