भारत

उत्तराखंड में वही कर रही बीजेपी, जो बंगाल में हुआ

Janta Se Rishta Admin
22 March 2022 1:46 AM GMT
उत्तराखंड में वही कर रही बीजेपी, जो बंगाल में हुआ
x

पिछले साल की ही बात है. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे आए तो तृणमूल कांग्रेस ने प्रचंड जीत के साथ सत्ता में वापसी कर ली लेकिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नंदीग्राम सीट से चुनाव हार गईं. नंदीग्राम में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी को हरा दिया था. हार के बावजूद ममता बनर्जी टीएमसी विधायक दल की नेता चुनी गईं और बीजेपी ने यह कहते हुए उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था कि चुनाव में किसी हारे हुए उम्मीदवार को मुख्यमंत्री बनने का नैतिक हक नहीं. बीजेपी के नेताओं ने तब शायद ये नहीं सोचा होगा कि साल गुजरते-गुजरते एक दिन उनकी पार्टी भी यही कहानी दोहराएगी.

बंगाल का यही ममता मॉडल उत्तराखंड में दोहराया जा रहा है. बीजेपी वही कर रही है जिसे लेकर पार्टी एक साल पहले ममता बनर्जी को घेर रही थी. बीजेपी को उत्तराखंड चुनाव में पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने का जनादेश मिला लेकिन पार्टी का चेहरा रहे पुष्कर सिंह धामी खुद खटीमा सीट से चुनाव हार गए. बावजूद इसके बीजेपी विधायक दल की बैठक में पुष्कर सिंह धामी को ही नेता चुन लिया गया है और वे ही सूबे के अगले मुख्यमंत्री होंगे.

बंगाल के हाई पिच चुनाव में जब ममता चुनाव हार गई थीं तो बीजेपी ने TMC को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी. बीजेपी की आईटी सेल के राष्ट्रीय संयोजक अमित मालवीय ने ममता बनर्जी और टीएमसी पर हमला बोला था. अमित मालवीय ने तब ट्वीट कर कहा था कि मौजूदा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नंदीग्राम सीट से चुनाव हार गईं. इस करारी हार के बाद अमित मालवीय ने कहा था कि इस करारी हार के बाद ममता बनर्जी को अपना मुख्यमंत्री पद बरकरार रखने का क्या नैतिक अधिकार है?

मालवीय ने ममता की हार को टीएमसी की जीत पर धब्बा भी बताया था. अमित मालवीय ने तब ये नहीं सोचा होगा कि कुछ ऐसा ही एक साल बाद ही उनकी पार्टी के साथ भी होगा. उत्तराखंड में बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिल गया लेकिन पार्टी के मुख्यमंत्री पद के चेहरे पुष्कर सिंह धामी अपनी ही सीट पर मात खा गए. बावजूद इसके धामी राज्य के अगले सीएम बन रहे हैं. ममता बनर्जी नंदीग्राम सीट से चुनाव हारने के बावजूद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनीं. मुख्यमंत्री बनने के बाद ममता बनर्जी भवानीपुर सीट से उपचुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचीं. उपचुनाव में ममता की जीत के बाद भी बीजेपी ने नंदीग्राम की हार को लेकर मोर्चा खोले रखा. पश्चिम बंगाल बीजेपी के उपाध्यक्ष श्रीप्रताप बनर्जी ने तंज करते हुए कहा था कि देश में ऐसा कभी नहीं हुआ जब किसी हारे उम्मीदवार ने खुद को सीएम बना लिया हो.

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद जो हुआ, बीजेपी उत्तराखंड में वही कर रही है. बीजेपी को उत्तराखंड चुनाव में जीत मिली लेकिन पार्टी के चुनाव अभियान की अगुवाई करने वाले पुष्कर सिंह धामी खटीमा विधानसभा सीट से चुनाव हार गए. खटीमा सीट से कांग्रेस के भुवन चंद कापड़ी ने चुनाव में बीजेपी का चेहरा रहे पुष्कर सिंह धामी को हरा दिया. धामी की हार के बाद मुख्यमंत्री पद को लेकर लंबी माथापच्ची की और आखिरकार उन्हें ही सूबे की सरकार की कमान फिर से सौंप दी.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta