भारत

BHOPAL: सरकारी अस्पताल में हुई किडनी ट्रांसप्लांट का पहला ऑपरेशन, मरीज और डोनर दोनों स्वस्थ

Kunti Dhruw
7 Sep 2021 5:48 PM GMT
BHOPAL: सरकारी अस्पताल में हुई किडनी ट्रांसप्लांट का पहला ऑपरेशन, मरीज और डोनर दोनों स्वस्थ
x
भोपाल के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल ने आज इतिहास रच दिया.

भोपाल. भोपाल के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल ने आज इतिहास रच दिया. आज अस्पताल में किडनी ट्रांसप्लांट (kidney transplant) हुआ. प्रदेश के किसी सरकारी अस्पताल में किडनी ट्रांसप्लांट का ये पहला ऑपरेशन है. चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग किडनी ट्रांसप्लांट मरीज से मिले और ऑपरेशन करने वाली पूरी टीम को बधाई और शुभकामनाएं दीं.

किशन नाम के मरीज में यह किडनी ट्रांसप्लांट की गयी. ऑपरेशन 4 घंटे चला. डोनर और मरीज दोनों सुरक्षित हैं. मंत्री सारंग ने बताया कि किडनी ट्रांसप्लांट के लिए नए स्ट्रक्चर में दो नए ऑपरेशन थिएटर बनाए जाएंगे. साथ ही प्रदेश के अन्य मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में भी किडनी ट्रांसप्लांट की सुविधा शुरू करने का प्रयास किया जाएगा.
टीम को बधाई
किडनी ट्रांसप्लांट के दौरान हमीदिया अस्पताल पहुंचे चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने ऑपरेशन करने वाली डॉक्टर्स की टीम को बधाई दी. उन्होंने टीम से चर्चा कर दोनों डोनर और पेशेंट के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली. डॉ. सौरभ जैन, डॉ अमित जैन, डॉ. हिमांशु शर्मा के प्रयास से प्रदेश में शासकीय अस्पताल में पहला किडनी ट्रांसप्लांट हुआ है. मंत्री सारंग गंभीर रूप से घायल मिसरोद निवासी 14 साल की बालिका से मिले और उसका डाक्टर्स से हालचाल जाना। डाक्टर्स के परामर्श के बाद बालिका के उचित इलाज के लिये नागपुर रेफर करने के निर्देश दिये.विभागवार सफाई अभियान…
मंत्री सारंग ने निरीक्षण के दौरान निर्देश दिये कि अस्पताल की साफ-सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखें. इसके लिये विभागवार कॉम्पीटिशन भी करवाया जाए. इस स्वच्छता अभियान की हफ्ते में रैंकिंग भी हो.
बच्चा वार्ड में कार्टून कैरेक्टर
मंत्री सारंग ने कहा बच्चा वार्ड में बच्चों के लिये हल्का-फुल्का माहौल बनाने के लिए मिक्की माउस जैसे कार्टून कैरेक्टर दीवारों पर लगाए जाएं. ताकि बच्चों को उन्हें देखकर खुशी मिले और उनका मन बहले.
स्टेंडवाई में वेंटिलेटर की व्यवस्था
सारंग ने बताया कि अस्पताल में मौसमी बीमारी के 150 बच्चे भर्ती हैं. वह खुद उनसे मिले और उनके परिवार से बात की. अस्पताल में 200 बैड की व्यवस्था है. सारंग ने स्टेंडवाई में एक एक्स्ट्रा वैंटिलेटर रखने के निर्देश दिये.
दवाई और व्यवस्था में न हो कमी
सारंग ने डॉक्टर्स को हिदायत देते हुए कहा कि दवाई और व्यवस्था में किसी भी प्रकार की कमी न आने दें. किसी भी जरूरत के समय उच्च स्तर पर खबर करें. व्यवस्था बनाए रखें.दो नये ओटी
विश्वास सारंग ने डॉक्टर्स की मांग पर दो नये ऑपरेशन थिएटर नये इन्फ्रास्टेक्चर में शामिल करवाने का आश्वासन दिया. साथ ही कहा डॉक्टर्स बताएं कि अस्पताल के लिए और क्या सुविधाएं और उपकरण चाहिए. व्यवस्था के लिये हर संभव प्रयास किये जाएंगे.


Next Story