भारत

बत्ती गुल: बिजली कर्मचारियों की हड़ताल से अंधेरे में डूबा शहर, ऑनलाइन क्लास तक हुई बंद

jantaserishta.com
23 Feb 2022 5:08 AM GMT
बत्ती गुल: बिजली कर्मचारियों की हड़ताल से अंधेरे में डूबा शहर, ऑनलाइन क्लास तक हुई बंद
x

चंडीगढ़: बिजली विभाग के निजीकरण के खिलाफ 21 फरवरी को अचानक हड़ताल पर गए बिजलीकर्मियों के कारण चंडीगढ़ को ब्लैकआउट का सामना करना पड़ा. करीब 36 घंटे से ज्यादा पूरा चंडीगढ़ अंधेरे में डूबा रहा. बिजली न होने के कारण लोगों को कई तरह की समस्याओं को सामना कर पड़ रहा है.

चंडीगढ़ में बिजली की आपूर्ति दोबारा कब से होगी इस पर अधिकारियों का बयान आ गया है. अधिकारियों का कहना है कि बिजली की आपूर्ति मौसम खराब होने और कर्मचारियों के कारण ठप्प हुई थी, लेकिन जल्द ही दोबारा से बिजली चालू कर दी जाएगी.
दरअसल, सोमवार को अचानक बिजलीकर्मी 72 घंटे की हड़ताल पर चले गए. बिजलीकर्मियों की ये हड़ताल केंद्र सरकार द्वारा चंडीगढ़ के बिजली विभाग के निजीकरण की फाइल को क्लीयर कर बिजली का काम निजी कंपनी एमीनेंट को देने के खिलाफ है. यूनियन का आरोप है कि प्रशासन ने हाईकोर्ट के आदेशों की अनदेखी कर बिजली विभाग का निजीकरण किया है. कर्मचारी इस फैसले को वापस लेने की मांग कर रहे हैं.
यूनियन के नेताओ को चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा दी गई सहमति और मौसम खराब होने की वजह से पैदा हुई स्थिति को देखते हुए जल्द ही बिजली सप्लाई चालू कर दी जाएगी.
कई इलाकों में पानी की भी किल्लत
बिजलीकर्मियों की हड़ताल के कारण ज्यादातर इलाकों में आधी रात को ही बिजली चली गई और मंगलवार तक नहीं आई. प्रशासन और बिजली विभाग की नाकामी से सभी व्यवस्थाएं धरी रह गईं, जिससे हाहाकार मच गया. बिजली न होने के कारण कई इलाकों में लोगों को पानी की किल्लत का भी सामना करना पड़ा.
ऑनलाइन क्लास और वर्क फ्रॉम होम हुआ प्रभावित
बिजली की आपूर्ति न होने के कारण वर्क फ्रॉम होम कर रहे लोगों को काफी परेशानी हुई. पूरे दिन बिजली नहीं आने की वजह से बच्चों की ऑनलाइन कक्षाएं भी प्रभावित हुईं. इन दिनों यूनिवर्सिटी व कॉलेजों की परीक्षाएं चल रही हैं. बिजली जाने की वजह से परीक्षाएं भी प्रभावित हुईं.
अब 6 महीने तक हड़ताल नहीं कर सकेंगे कर्मचारी
लोगों की परेशानियों को देखते हुए प्रशासन ने बिजली विभाग के कर्मचारियों के लिए पूर्वी पंजाब एस्मा (आवश्यक सेवा अनुरक्षण कानून) 1968 लागू कर दिया. इसके तहत छह माह तक बिजली विभाग के कर्मचारी हड़ताल नहीं कर सकेंगे.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta