भारत

अरविंद केजरीवाल गुजरात दौरे में, कहा- भाजपा ने किया स्कूलों का बुरा हाल, हमें मौका दो

jantaserishta.com
1 May 2022 1:56 PM GMT
अरविंद केजरीवाल गुजरात दौरे में, कहा- भाजपा ने किया स्कूलों का बुरा हाल, हमें मौका दो
x
पढ़े पूरी खबर

भरूच: गुजरात के भरूच में रविवार को रैली करने पहुंचे आम आदमी पार्टी (AAP) के अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल ने जनता से अपनी पार्टी को एक मौका देने की मांग की। चंदेरिया में आयोजित 'आदिवासी संकल्प सम्मेलन' के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री ने सत्ताधारी भाजपा पर 27 साल में गुजरात को बदहाल कर देने का आरोप लगाया। साथ ही अपनी पार्टी को मौका मिलने पर गुजरात में भी दिल्ली और पंजाब जैसा गवर्नेंस मॉडल लागू करने की बात कही।

पंजाब में अपनी पार्टी की विशाल जीत के बाद केजरीवाल पहली जन रैली में हिस्सेदारी कर रहे थे। उन्होंने जनता से कहा कि अगर 5 साल में गुजरात के स्कूलों और प्रशासन को नहीं सुधार दिया तो हमें यहां से भगा देना।
दिल्ली के स्कूलों जैसे बनाएंगे गुजरात के स्कूल
अरविंद केजरीवाल ने कहा, 27 साल से गुजरात में BJP की सरकार है और 27 साल में उन्होंने यहां के स्कूलों का बुरा हाल कर दिया। इन्हें और 5 साल दे दो फिर भी यहां कुछ नहीं होगा।
उन्होंने कहा, गुजरात में 6,000 से ज्यादा सरकारी स्कूल बंद पड़े हुए हैं। दूसरे स्कूल बुरी हालत में है। लाखों बच्चों का भविष्य संकट में है। हम इस भविष्य को बदल सकते हैं, जिस तरीके से हमने दिल्ली के स्कूलों को बदला है।
सम्मेलन में अरविंद केजरीवाल को तीर-धनुष दिया गया।
दिल्ली आकर देखें CM भूपेंद्र पटेल
केजरीवाल ने दावा किया कि दिल्ली में 4 लाख बच्चे प्राइवेट स्कूलों से राज्य सरकार के संचालन वाले सरकारी स्कूलों में शिफ्ट हो गए हैं। उन्होंने अधिकतर आदिवासी आबादी वाली भरूच की जनता से कहा, दिल्ली में अमीर और गरीब का बच्चा एकसाथ पढ़ता है। इस बार दिल्ली का पासिंग परसेंटेज 99.7% रहा है।
उन्होंने कहा, मैं मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल को आमंत्रित करता हूं कि वे हमारे दिल्ली की सरकारी स्कूल देखें। उन्होंने जनता से कहा, हमें एक मौका दे दो, हमने अगर 5 साल में यहां के सभी स्कूल ठीक नहीं किए तो हमें यहां से भाग दीजिएगा।
गुजरात सरकार ने बनाया है पेपर लीक का रिकॉर्ड
केजरीवाल ने आरोप लगाते हुए कहा, गुजरात की भाजपा सरकार ने पूरी दुनिया में पेपर लीक करने के मामले में विश्व रिकॉर्ड बनाया है। मैं भूपेंद्र पटेल को चुनौती देता हूं कि वो एक पेपर बिना लीक कराए हुए परीक्षा करा दें।
रैली के दौरान गर्मी के बावजूद महिलाओं की मौजूदगी बड़ी संख्या में रही।
आदिवासी जनता की नब्ज पर रखा हाथ
रैली के दौरान केजरीवाल ने आदिवासी जनता की नब्ज पर हाथ रखने की कोशिश की। उन्होंने कहा, गुजरात में एक करोड़ से ज्यादा आदिवासी हैं। देश के सबसे अमीर दो आदमी और सबसे गरीब आदिवासी, दोनों इसी राज्य से हैं।
उन्होंने कहा, आदिवासी लंबे समय से शोषित होते रहे हैं। पहले अंग्रेजों ने उनका शोषण किया और अब भी वह शोषण जारी है। भाजपा और कांग्रेस पार्टी सिर्फ अमीरों को अमीर बना रही है, लेकिन मैं आपको कहता हूं कि हमें एक मौका दे दो, हम आपकी गरीबी दूर कर देंगे। हम लोग आपके साथ खड़े हैं। हम अमीरों की नहीं गरीबों व आम लोगों की पार्टी हैं।
आदिवासी इलाकों में कांग्रेस का विकल्प बनने पर नजर
पहले दिल्ली और फिर पंजाब से कांग्रेस को बाहर करने के बाद अब केजरीवाल की निगाहें गुजरात में उसका विकल्प बनने पर टिकी हैं। गुजरात में इस साल के अंत में चुनाव होने हैं। राज्य में 27 साल से भाजपा की सरकार है, जबकि कांग्रेस मुख्य विपक्षी दल रही है। साल 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने राज्य की 27 आदिवासी बहुल सीटों में से 15 जीती थीं।
पिछले महीने AAP ने दावा किया था कि एक इंटरनल सर्वे में सामने आया है कि उसकी पार्टी इस साल विधानसभा चुनाव में गुजरात की 58 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है। AAP के मुताबिक, सर्वे में यह सामने आया है कि पार्टी को ग्रामीण इलाकों के साथ ही निचले व मध्यम आय वर्ग वाले शहरी इलाकों में भी जमकर वोट मिलेगा।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta