भारत

हत्या कर शव को 30 टुकड़ों में काटा, बिजनेस पार्टनर ही निकला आरोप

Janta Se Rishta Admin
23 March 2022 3:44 AM GMT
हत्या कर शव को 30 टुकड़ों में काटा, बिजनेस पार्टनर ही निकला आरोप
x

यूपी। मेरठ (Meerut) में बीते 18 मार्च को लापता हुए 34 वर्षीय मोहम्मद इरफान की कथित तौर पर उसके बिजनेस पार्टनर और दोस्तों ने गला दबाकर हत्या कर दी. बाद में उसके शव को 30 टुकड़ों में काटकर बुलंदशहर-हापुड़ टोल प्लाजा के पास एक बंजर भूमि में दबा दिया गया था. सोमवार को हापुड़ पुलिस (Hapur Police) ने शव को खोदकर निकाला और उसके बचपन के दोस्त और बिजनेस पार्टनर मोहम्मद रागीब और एक दोस्त मोहम्मद आकिब को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. वहीं इस मामले में एक और दोस्त माजिद अली फरार है.

पुलिस ने बताया कि आरोपी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. वहीं मामले को लेकर पुलिस ने दावा किया कि पैसे के विवाद को लेकर इरफान की उसके दोस्तों ने हत्या कर दी थी. टोल प्लाजा के पास फास्टैग बेचने वाली अपनी दुकान से घर नहीं लौटने पर इरफान के परिवार ने उनके लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी. उसके दोस्त रागीब, जो टोल प्लाजा के पास एक रेस्टोरेंट भी चलाता है, ने इरफान के बिजनेस में पैसा लगाया और उनके साथ पार्टनर के तौर पर जुड़ गए. दोनों ने मोहम्मद आकिब को उनकी अनुपस्थिति में दुकान की देख-रेख करने के लिए काम पर रखा था.

बाद में, जब रागीब ने व्यवसाय में एक बड़ा हिस्सा मांगा, जिसे इरफान ने शुरू किया था, तभी दोनों पार्टनर के बीच कुछ विवाद पैदा हो गया. रागीब ने इरफ़ान से कहा कि वह फास्टैग की दुकान को सौंप दे या उसके द्वारा लगाए गए पैसे वापस कर दे. इरफान के मना करने पर रागीब ने उसे मारने का फैसला किया।

हापुड़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) दीपक भुकर ने कहा कि इरफान के परिवार ने हमें बताया कि उसे आखिरी बार रागीब और आकिब के साथ देखा गया था. जब उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया गया, तो उन्होंने शुरू में पुलिस को चकमा देने की कोशिश की, लेकिन जल्द ही उन्हें पकड़ लिया गया. उन्होंने कहा कि उनके बयानों में विरोधाभास था. उनके कॉल डिटेल से पता चलता है कि जिस रात वह लापता हुआ था उस रात वे लगातार उसके संपर्क में थे. लगातार पूछताछ के दौरान, वे अंत में मान गए और इरफान को मारने की बात स्वीकार कर ली.

एसएसपी ने बताया कि हमने शरीर के अंगों को खोदने के लिए एक जेसीबी मशीन का इस्तेमाल किया क्योंकि ये मिट्टी में गहरे दबे हुए थे. वहीं रागीब और आकिब को गिरफ्तार कर लिया गया है और उनके साथी माजिद अली की तलाश की जा रही है.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta