Top
भारत

6 हजार रेलवे यात्री फंसे, भारी बारिश से कई ट्रेनें प्रभावित

Admin2
22 July 2021 4:45 PM GMT
6 हजार रेलवे यात्री फंसे, भारी बारिश से कई ट्रेनें प्रभावित
x
BREAKING

महाराष्ट्र के रत्नागिरी जिले (Ratnagiri) में कोंकण रेलवे मार्ग (Konkan Railway) पर ट्रेन सेवाओं (Train Services) के प्रभावित होने की वजह से लगभग 6,000 यात्री फंस गए. इसके पीछे की वजह एक नदी में बारिश के बाद बाढ़ आना बताई गई है. मालूम हो कि पूरे राज्य के कई जिले इस समय भारी बारिश और बाढ़ से प्रभावित हैं. बारिश से मुंबई सहित राज्य के कई हिस्सों में सड़क और रेल यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है. रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए प्रशासन ने एनडीआरएफ की टीमों को लगा दिया है. अधिकारियों ने कहा कि अब तक कोंकण रेलवे (केआर) मार्ग पर सेवाओं के बाधित होने के कारण नौ ट्रेनों को रेग्युलेट किया गया है, जिसका मतलब है कि उन्हें या तो दोबारा रूट किया गया है, शॉर्ट टर्मिनेट किया गया है या रद्द कर दिया गया है. अधिकारियों ने बताया कि कोंकण क्षेत्र के रत्नागिरी और रायगढ़ जिलों में प्रमुख नदियां लगातार बारिश के कारण खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं और सरकारी तंत्र कई प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की लगातार कोशिश कर रहा है.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इन दो तटीय जिलों में लगातार हो रही बारिश से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की. बैठक के दौरान, ठाकरे ने कहा कि मौसम विभाग (आईएमडी) ने अगले तीन दिनों के लिए तटीय क्षेत्र में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. उन्होंने अधिकारियों से सतर्क रहने और उफनती नदियों के स्तर पर नजर रखने और निवासियों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए कहा.

कोंकण रेलवे के अधिकारियों ने कहा कि फंसी हुईं ट्रेनें विभिन्न स्टेशनों पर सुरक्षित स्थानों पर हैं और उनमें सवार यात्री भी सुरक्षित हैं और उन्हें खाना और पानी उपलब्ध करवाया जा रहा है. एक अधिकारी ने बताया कि भारी बारिश के बाद रत्नागिरी में चिपलून और कामठे स्टेशनों के बीच वशिष्ठ नदी पुल का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया है.

उन्होंने कहा, "यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए इस जगह पर ट्रेन सेवाओं को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है." रेल अधिकारियों के अनुसार, 5,500-6,000 यात्री ट्रेनों में फंसे हुए थे, जिन्हें 756 किलोमीटर लंबे केआर मार्ग पर विभिन्न स्टेशनों पर रेग्युलेट किया गया. यह रूट तीन राज्यों - महाराष्ट्र, गोवा और कर्नाटक में फैला हुआ है और मुश्किल इलाकों से गुजरता है. कोंकण रेलवे ने जानकारी दी है कि चिपलून में बाढ़ की स्थिति के कारण अब तक लंबी दूरी की नौ ट्रेनों को रेगुलेट किया जा चुका है.

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it