भारत

एयरपोर्ट से 30 किलोग्राम गोल्ड को किया गया कुर्क, कीमत 14 करोड़ से ज्यादा

Rounak
15 Sep 2021 4:57 PM GMT
एयरपोर्ट से 30 किलोग्राम गोल्ड को किया गया कुर्क, कीमत 14 करोड़ से ज्यादा
x
पढ़े पूरी खबर

पिछले साल तिरुवनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर जब्त किये गए 30 किलोग्राम से अधिक सोने को प्रवर्तन निदेशालय ने बुधवार को कुर्क किया. केरल सोना तस्करी मामले में केरल के आईएस अधिकारी और यूएई के वाणिज्य दूतावास के दो पूर्व कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया था.

ईडी ने तिरुवनंतपुरम में UAE के वाणिज्य दूतावास के पूर्व कर्मचारियों सरित पी. एस. और स्वप्ना सुरेश के 14 लाख रुपये भी कुर्क किए हैं. ED ने अपने बयान में कहा कि अबूबकर पाझेदात, अब्दुल हमीद पी. एम., जलाल ए. एम., राबिंस के हमीद, अब्दु पी टी, मोहम्मद शफी, हमजाद अली के., पी टी अहमद कुट्टी, हमजाद अब्दुल सलाम, शैजल, मुहम्मद शमीर, रजाल और अंसिल का 30.245 किलोग्राम सोना 'अटैच' कर दिया. इस पूरे सोने की कीमत 14,82,00,010 रुपये है. इसके साथ ही एजेंसी ने सरित और स्वप्ना सुरेश के 14,98,000 रुपये नकद भी कुर्क किए.
NIA की FIR के आधार पर ED ने शुरू की थी मामले की जांच
राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) की FIR के आधार पर ईडी ने धन शोधन कानून के प्रावधनों के तहत इस मामले की जांच शुरू की थी. ये 30.245 किलोग्राम सोना राजनयिक व्यक्ति के सामान में छुपा कर यूएई वाणिज्य दूतावास में लाया गया था. इसके संबंध में सरित, स्वप्ना और संदीप नायर को 22 जुलाई 2020 को गिरफ्तार किया गया था. एक अन्य आरोपी और आईएएस अधिकारी एम शिवशंकर को 28 अक्टूबर 2020 को गिरफ्तार किया गया था जो उस समय केरल के मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव थे. ED ने गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम, 1967 के तहत सरित, स्वप्ना, फैसल फरीद, संदीप और कुछ लोगों के खिलाफ विशेष अदालत के समक्ष दायर NIA की FIR के आधार पर जांच शुरू की थी.
सोने को यूएई वाणिज्य दूतावास के एक राजनयिक के सामान में छिपाया गया था, जिसे वियना सम्मेलन के अनुसार हवाई अड्डे पर चेकिंग से छूट है. ईडी ने कहा कि यह खेप मामले के पहले आरोपी सरित को मिलनी थी, जो संयुक्त अरब अमीरात के वाणिज्य दूतावास में पहले जनसंपर्क अधिकारी के रूप में काम कर चुका था. सरथ, स्वप्ना और संदीप नायर को इस मिलीभगत के आरोप में 22 जुलाई, 2020 को निदेशालय ने गिरफ्तार किया था. एक अन्य आरोपी एम शिवशंकर, केरल के मुख्यमंत्री के तत्कालीन प्रधान सचिव को भी 28 अक्टूबर, 2020 को निदेशालय ने गिरफ्तार किया था.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it