भारत

1 करोड़ 22 लाख 77 हजार नगद मिला, हुआ ये चौंकाने वाला खुलासा

jantaserishta.com
14 Aug 2022 3:19 AM GMT
1 करोड़ 22 लाख 77 हजार नगद मिला, हुआ ये चौंकाने वाला खुलासा
x

न्यूज़ क्रेडिट: हिंदुस्तान

नवादा: बिहार के नवादा में साइबर अपराधियों के एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। यह जिला साइबर क्राइम का हब बन गया है। जिले के पकरीबरावां पुलिस अनुमंडल के वारिसलीगंज इलाके में छापेमारी में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने छापेमारी के दौरान 1 करोड़ 22 लाख 77 हजार रुपये नगद व एक फॉर्चूनर समेत तीन लग्जरी वाहन बरामद किया। मौके से चार साइबर अपराधियों को गिरफ्तार भी किया गया। जबकि गिरोह का सरगना मिथिलेश प्रसाद समेत कई अपराधी पुलिस पर फायरिंग करते हुए भाग निकले। लेकिन, किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। मौके से शराब की बोतलें भी बरामद किए गए हैं।

पूरा मामला वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के भवानी बिगहा गांव का है। हैदराबाद की पुलिस भवानी बिगहा गांव छापेमारी करने गयी थी। इस दौरान भुटाली राम के घर पर एक गोदरेज से रुपयों से भरे तीन बड़े एयर बैग बरामद किये गये। तीन बोतल शराब, एपल फोन समेत पांच मोबाइल व कई अन्य आपत्तिजनक सामान भी बरामद किये गए। जब्त वाहनों में फॉचूर्नर के अलावा एक टाटा हैरियर व एक हुंडई आई 20 कार शामिल है। गिरफ्तार अपराधियों में भवानी बिगहा के मिथिलेश का पिता सुरेंद्र प्रसाद, रामस्वरूप राम का बेटा भुटाली राम तथा शेखपुरा जिले के कसार गांव के राजकुमार महतो का बेटा महेश कुमार एवं शेखपुरा के ही पाची गांव का जितेंद्र कुमार शामिल हैं।
नवादा के एसपी डॉ. गौरव मंगला ने वारिसलीगंज थाना में पूरे घटनाक्रम का खुलासा करते हुए कहा कि तेलंगाना के सायबराबाद में साइबर फ्रॉड से जुड़ा एक मामला कांड संख्या 488/2022 दर्ज हुआ था। दर्ज केस में बताया गया है कि यह गिरोह लोगों को नकली फ्रेंचाइजी देने के नाम पर उनसे फाइनेंशियल डीटेल ले लेता है और उनके खाते से रूपये गायब कर देता है। अपराधियों की तलाश में आयी पुलिस के साथ वारिसलीगंज पुलिस द्वारा संयुक्त कार्रवाई में कैश व कारें बरामद हुईं। गिरोह का सरगनामिथिलेश फायरिंग करते हुए भाग निकला। चार की गिरफ्तारी हुई है। छापेमारी व तलाशी अभियान अभी भी जारी रहेगी। प्रेस कांफ्रेंस में पकरीबरावां एसडीपीओ मुकेश कुमार साहा भी मौजूद थे।
तीनों एयर बैग से बरामद किये गये अधिकांश नोट पांच सौ के थे। इनकी गिनती के लिए नोट गिनने वाली मशीन मंगाई गयी। पकरीबरावां एसडीपीओ मुकेश कुमार साहा की देखरेख में नोटों की गिनती की गयी। गिनती उपरांत बरामद किये गये कुल रुपयों का खुलासा किया गया।
मिथिलेश प्रसाद के घर पर छापेमारी करने गयी पुलिस टीम पर अपराधियों ने अचानक फायरिंग कर दी। कुछ देर के लिए पुलिस को पीछे हटना पड़ा। इस बीच साइबर सरगना मिथिलेश प्रसाद समेत उसके कई साथी भाग निकले। मिथिलेश के घर से तीनों लग्जरी गाड़ियां बरामद की गयी। एक कार के भीतर से डेढ़ बोतल शराब भी बरामद की गयी।
भवानी बिगहा गांव में की गयी छापेमारी अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई बतायी जाती है। इससे पूर्व करीब चार वर्ष पहले महाराष्ट्र पुलिस ने वारिसलीगंज बाईपास में छापेमारी कर कल्लू नामक एक युवक को 56 लाख रुपये के साथ गिरफ्तार किया था। जबकि तेलंगाना पुलिस ने दो वर्ष पूर्व देवर व भाभी को 30 लाख नगद के साथ गिरफ्तार किया था।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta