पश्चिम बंगाल

TMC कार्यकर्ता की दिनदहाड़े पीट-पीटकर की हत्या, मचा हड़कंप

Kunti Dhruw
18 April 2022 8:38 AM GMT
TMC कार्यकर्ता की दिनदहाड़े पीट-पीटकर की हत्या, मचा हड़कंप
x
पश्चिम बंगाल (West Bengal) के दक्षिण 24 परगना जिले के सोनारपुर इलाके में एक टीएमसी कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या करने का आरोप लगा है.

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के दक्षिण 24 परगना जिले के सोनारपुर इलाके में एक टीएमसी कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या करने का आरोप लगा है. मृतक का नाम मंगल प्रमाणिक ( 35) है. वह बिष्णुपर 222 नंबर ब्लॉक टीएमसी (TMC) का कोषाध्यक्ष था. स्थानीय सूत्रों के अनुसार मंगल प्रमाणिक सुबह मछली बाजार में काम करने जा रहा था. तब बीजेपी कार्यकर्ता (BJP Worker) देबाशीष प्रमाणिक ने उस पर धारदार हथियार से हमला कर दिया. कथित तौर पर उसे सड़क पर पीटा गया, लेकिन इसके पीछे पारिवारिक विवाद का मामला सामने आ रहा है. यह घटना सोमवार की सुबह घटी है. सुबह काम पर जाते समय उसकी हत्या कर दी गई. घटना के बाद से मुख्य आरोपी फरार है. पुलिस उसकी तलाश कर रही है. सोनारपुर पुलिस पूरे मामले की जांच शुरू की है.

पारिवारिक और स्थानीय सूत्रों के अनुसार देबाशीष प्रमाणिक के साथ उसकी लंबे समय से दुश्मनी थी. उनके बीच पहले भी एक से अधिक बार झगड़ा हो चुका था, लेकिन इसमें स्थानीय लोगों ने मध्यस्थता की इसे मिटाया गया था.
काम पर जाते समय हुई टीएमसी कार्यकर्ता की हुई हत्यास्थानीय सूत्रों के अनुसार मंगल सोमवार सुबह मछली बाजार में काम करने जा रहा था. कथित तौर पर धारदार हथियार से देबाशीष ने उस पर आक्रमण कर दिया. कथित तौर पर उसे सड़क पर पीटा गया. घायल हालत में मंगल प्रामाणिक काफी समय तक सड़क पर पड़ा रहा. स्थानीय लोगों ने उसे बचाया और अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. मृतक की मां ने कहा, "पहले भी उसकी पिटाई की गई थी. मैंने विरोध किया था. वो रविवार आया और गाली गलौज करने लगा था. मेरे बेटे को छेड़ा था. फिर वह मारा था,लेकिन लड़के ने बदला ले लिया."
टीएमसी कार्यकर्ता की हत्या के बाद मचा बवाल
घटना को लेकर राजनीतिक बवाल मच गया. स्थानीय टीएमसी नेता सुफल घटू ने कहा, " वह हमारी पार्टी का सक्रिय कार्यकर्ता था. बीजेपी पिछले साल से इलाके में शांति भंग कर रही है. अब हमारे कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई है." दूसरी ओर, स्थानीय भाजपा नेता पिंटू सरदार ने कहा, यह एक पूर्ण ग्रामीण संघर्ष है. इसका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है. टीएमसी इसका राजनीतिकरण करने की कोशिश की जा रही है. पुलिस ने घटना की जांच शुरू कर दी है. भाजपा हत्या की राजनीति में शामिल नहीं है." बता दें कि पश्चिम बंगाल में लगातार राजनीतिक हिंसा की घटनाएं घट रही हैं.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta