पश्चिम बंगाल

कोरोना की वजह से सॉफ्टवेयर इंजीन‍ियर को सताने लगा नौकरी जाने का डर, और ऐसे चले गई 2 जान

Admin1
23 Oct 2021 5:48 AM GMT
कोरोना की वजह से सॉफ्टवेयर इंजीन‍ियर को सताने लगा नौकरी जाने का डर, और ऐसे चले गई 2 जान
x
एक सनसनीखेज खबर आई है.

हुगली: पश्च‍िम बंगाल के हुगली ज‍िले से एक सनसनीखेज खबर आई है जहां कन्हाईपुर में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर युवक और एक पीएचडी की छात्रा ने सुसाइड कर ल‍िया. 35 वर्षीय उच्च शिक्षा प्राप्त एक कपल ने अपने-अपने कमरे में गले में फांसी का फंदा डालकर मौत को गले लगा लिया.

चंदननगर कमिश्नरेट के एसीपी अली रजा ने बताया कि मृतक मनोजीत सिन्हा सॉफ्टवेयर इंजीनियर था और कोलकाता की एक बड़ी कंपनी में काम करता था. वह कोलकाता की एक सॉफ्टवेयर कंपनी में बतौर इंजीनियर के रूप में काम करता था. मृतक युवक मूल रूप से वर्धमान जिले के केतुग्राम का रहने वाला था लेकिन नौकरी के सिलसिले में हुगली के उत्तरपाड़ा थाना इलाके के कन्हाईपुर में किराए के मकान में रहता था जबकि उसकी प्रेमिका पूजा पीएचडी की छात्रा थी.
पुलिस ने बताया कि एक ही इलाके में रहने के कारण दोनों में काफी अच्छे संपर्क थे लेकिन कोरोना महामारी की मार के कारण सॉफ्टवेयर इंजीनियर मनोजीत की नौकरी खतरे में थी, उधर दोनों की उम्र लगभग 35 साल हो जाने के कारण वैवाहिक बंधन में बंधने का दबाव भी बढ़ता जा रहा था.
नौकरी जाने के डर और आर्थिक तंगी के कारण सॉफ्टवेयर इंजीनियर मनोजीत पिछले कई महीनों से मानसिक अवसाद में गुजर रहा था और इसी अवस्था में उसने आत्महत्या करने का कदम उठाया. पहले मनोजीत ने अपने किराए के मकान में फांसी के फंदे से झूल कर आत्महत्या कर ली. जैसे ही घटना की खबर उसकी प्रेमिका पूजा को मिली उसने भी अपने घर में ठीक उसी तरीके से लटक कर इस दुनिया को अलविदा कह दिया.
दरअसल, लक्ष्मी पूजा की रात जब उसके घर के मकान मालिक भास्कर सेनगुप्ता पूजा का प्रसाद देने मनोजीत सिन्हा के कमरे में गए तो उसने देखा कि घर का कमरा अंदर से पूरी तरह से बंद और अंधकार में है. तब उसने कमरे के छत से झांक कर देखा कि मनोजीत कमरे के पंखे से से दुपट्टे से झूलता हुआ झूल रहा है. तत्काल इस घटना की खबर पुलिस को दी गई. पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर मृतक के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल भेज दिया.
इस घटना की खबर उसकी प्रेमिका पूजा को मिली वह गम में पागल रोती-बिलखती हुई अपने प्रेमी के यहां आई लेकिन मकान मालिक ने उसे घर में घुसने की इजाजत नहीं दी. इसके बाद पूजा अपने घर वापस गई.
पूजा की मां के अनुसार, पूजा खाने-पीने के बाद अपने कमरे में चली गई. दूसरे दिन काफी देर हो जाने पर कमरे से जब कोई आवाज नहीं आई तो पूजा की मां ने उसके कमरे का दरवाजा खोला तो पूजा भी अपने घर के कमरे के पंखे से झूलती हुई पाई गई. घटनास्थल से पुलिस को पूजा द्वारा बांग्ला में लिखा गया एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है.
ACP III अली रजा ने बताया कि पूजा की मां के बयान के आधार पर पुलिस ने इस मामले में आस्वभाविक मौत का मामला दर्ज करके मामले की तहकीकात शुरू कर दी है. इस तरह से एक होनहार सॉफ्टवेयर इंजीनियर और एक प्रतिभावान पीएचडी छात्रा के एक साथ आत्महत्या किए जाने से उत्तरपाड़ा के कन्हाईपुर इलाके में शोक और मातम छा गया है.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it