पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से फिलिंग स्टेशनों पर 30 मिनट के लिए बंद की बिक्री

Kunti
28 Oct 2021 6:52 PM GMT
पश्चिम बंगाल में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से फिलिंग स्टेशनों पर 30 मिनट के लिए बंद की बिक्री
x
देश समेत पश्चिम बंगाल में भी लगातार बढ़ते पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel Price hike in West Bengal) के दामों के विरोध में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

देश समेत पश्चिम बंगाल में भी लगातार बढ़ते पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel Price hike in West Bengal) के दामों के विरोध में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. इस बीच शुक्रवार को कोलकाता (Kolkata) और आसपास के जिलों में पश्चिम बंगाल पेट्रोल पंप डीलर्स एसोसिएशन ने विरोध दर्ज कराया. यहां 30 मिनट के लिए पेट्रोल और डीजल की बिक्री बंद कर दी गई और फिलिंग स्टेशनों पर लाइट बंद कर दी।

पश्चिम बंगाल पेट्रोल पंप डीलर्स एसोसिएशन ने 30 मिनट के लिए पेट्रोल और डीजल की बिक्री बंद कर दी और ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी के विरोध में आज शाम कोलकाता और आसपास के जिलों में फिलिंग स्टेशनों पर लाइट बंद कर दी.

बढ़ी कीमतों के चलते नहीं हो रही बिक्री
डब्ल्यूबी पेट्रोल पंप डीलर्स एसोसिएशन के कार्यकारी सदस्य, अनिर्बान साहा ने कहा कि कोलकाता, उत्तर 24 परगना, दक्षिण 24 परगना, हावड़ा और हुगली में आज डीजल की कीमत 100 रुपये को पार कर गई है. बढ़ती कीमतों के कारण बिक्री की मात्रा कम हो रही है. इसलिए हमारा मुनाफा भी कम हो रहा है. इसी के चलते विरोध के रूप में आज 30 मिनट के लिए पेट्रोल और डीजल की बिक्री बंद की गई थी.

कैसे तय होता है पेट्रोल-डीज़ल का दाम?
भारत में पेट्रोल-डीज़ल के दाम चार चरणों में तय होते हैं. पहला: रिफाइनरी, यहां कच्चे तेल से पेट्रोल, डीज़ल और अन्य पेट्रोलियम पदार्थ निकाले जाते हैं. दूसरा तेल कंपनियां: ये अपना मुनाफ़ा बनाती हैं और पेट्रोल पंप तक तेल पहुंचाती हैं. तीसरा: यहां पेट्रोल पंप मालिक अपना तयशुदा कमीशन बनाता है. चौथा: आम जनता-ये केंद्र और राज्य सरकार के लिए एक्साइज़ ड्यूटी और वैट देकर तेल लेता है.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it