पश्चिम बंगाल

अब पूर्वोत्तर राज्यों पर CM ममता बनर्जी की नजर, 20 दिसंबर को असम से मेघालय जाएंगी

Kunti
9 Dec 2021 4:08 PM GMT
अब पूर्वोत्तर राज्यों पर CM ममता बनर्जी की नजर, 20 दिसंबर को असम से मेघालय जाएंगी
x
पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद पूरे देश में टीएमसी के विस्तार में जुटी पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) मुंबई और दिल्ली दौरे के बाद अब असम (Assam) दौरे की तैयारी कर रही हैं.

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद पूरे देश में टीएमसी के विस्तार में जुटी पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) मुंबई और दिल्ली दौरे के बाद अब असम (Assam) दौरे की तैयारी कर रही हैं. सीएम ममता बनर्जी 20 दिसंबर को असम दौरे पर जाएंगी. वहां 21 दिसंबर की सुबह माता कामाख्या के मंदिर में पूजा करेंगी. गुवाहाटी स्थित मां कामाख्या मंदिर में पूजा करने के बाद वह गाड़ी से मेघायल (Meghalaya) जाएंगी और मेघालय में पार्टी विस्तार की रणनीति बनाएंगी. हाल में मेघालय में कांग्रेस के 12 विधायक के टीएमसी (Meghalaya TMC) के शामिल हो गए थे. मेघालय में टीएमसी प्रमुख विपक्षी पार्टी बन गई हैं.

इसके पहले सीएम ममता बनर्जी 15 दिसंबर को कोलकाता नगर निगम चुनाव के लिए उत्तर कोलकाता के टीएमसी उम्मीदवारों के समर्थन में फूलबागान में और 16 दिसंबर को दक्षिण कोलकाता में सभा को संबोधित करेंगी. बता दें कि हाल में सीएम ममता बनर्जी मुंबई और दिल्सी के दौरे से लौटी हैं तथा 13 दिसंबर को ममता बनर्जी और अभिषेक बनर्जी का गोवा दौरा प्रस्तावित है. टीएमसी ने गोवा में विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा की है और गोवा में लगातार टीएमसी पार्टी को मजबूत करने में जुटी है.
मेघालय में कांग्रेस के 12 विधायकों के टीएमसी (Meghalaya TMC) में शामिल होने के बाद ममता बनर्जी का यह पहला मेघालय दौरा होगा. टीएमसी ने मेघालय में विधायक चार्ल्स पायंगरोप (Charles Pyngrope) को मेघालय टीएमसी का अध्यक्ष नियुक्त किया है, जबकि पूर्व सीएम मुकुल संगमा (Mukul Sangma) विधानसभा में टीएमसी विधायक दल के नेता हैं. इस दौरे के दौरान ममता बनर्जी मेघालय में पार्टी के विस्तार की नीति बनाएंगी.
हाल में मेघालय के टीएमसी नेता कोलकाता आये थे और कोलकाता में ममता बनर्जी और अभिषेक बनर्जी के साथ बैठक की थी. बैठक के बाद मुकुल संगमा ने कहा था कि पूरे देश की जनता चाहती है कि एक पार्टी बने, जो पूरे देश में मुकाबला करे और लोगों की उम्मीदें पूरी की जा सकें. जहां तक मेघालय की बात है कि लोगों और कार्यकर्ताओं का पूरा विश्वास है कि 30 से 45 दिनों में पूरे मेघालय में टीएमसी का झंडा होगा. देश के लोग एक ऐसी राजनीतिक शक्ति चाहते हैं, जो बीजेपी से मुकाबला कर सके.
गुरुवार को युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता मेघालय में टीएमसी में शामिल हो गये. बता दें कि हाल में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने मेघालय में कांग्रेस को बड़ा झटका दिया था. पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा सहित कांग्रेस के 12 विधायक TMC में शामिल हो गए थे. राज्य में कांग्रेस के 17 विधायक थे. इस तरह से मेघालय में मुख्य विपक्षी दल टीएमसी हो गयी है. बता दें कि टीएमसी ने त्रिपुरा, मेघालय, गोवा, यूपी, हरियाणा में अपनी ताकत मजबूत करने में जुटी है.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it