पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल में चोरी की गाड़ियों का बढ़ा डिमांड, जानें कैसे?

Kunti
10 Dec 2021 1:59 PM GMT
पश्चिम बंगाल में चोरी की गाड़ियों का बढ़ा डिमांड, जानें कैसे?
x
चोरी की गाड़ी की डिमांड पश्चिम बंगाल में काफी हो रही है।

चोरी की गाड़ी की डिमांड पश्चिम बंगाल में काफी हो रही है। शराब की खेप सप्लाई करने के लिए बड़े तस्करों के द्वारा चोरी के वाहनों का प्रयोग किया जा रहा है। सबसे दिलचस्प बात यह है कि सीमाई इलाकों पर पुलिस और उत्पाद विभाग की टीम की सक्रियता बढ़ने के बाद तस्कर अब छोटे छोटे रूप में ही शराब की खेप सप्लाई का काम शुरू कर दिया है। नए साल में जश्न मनाने के लिए विदेशी शराब की डिमांड काफी अधिक होने की वजह से तस्कर तरह तरह के नए तरकीब अपना कर शराब की खेप बिहार के कई जिलों में भेजने का काम कर रहे हैं। पूर्णिया पुलिस के हत्थे चढ़े शराब तस्कर मुर्शीद आलम की पत्नी चोरी की गाड़ी को खरीदने का काम शुरू कर दिया है । बताया जाता है कि नए साल में शराब की खेप भेजने के लिए चोरी की गाड़ी को खरीदने का काम किया जा रहा है। शराब लदे गाड़ियों को भेजने का काम रात के दो बजे से सुबह के पांच बजे तक तस्करों के द्वारा किया जा रहा है। ताकि आम लोगों और पुलिस की नजर नहीं पड़े। पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने बताया कि पश्चिम बंगाल से आने वाले शराब की खेप पर पैनी निगाह रखी जा रही है। सीमाई इलाकों को शराब पकड़ने के लिए सादे ड्रेस में पुलिस बलों की तैनाती की गयी है। पश्चिम बंगाल पुलिस से भी लगातार सहयोग की अपेक्षा की जा रही है।

मुर्शीद की पत्नी के धंधे संभालते ही सक्रिय हो गया है अन्य शराब तस्कर- केंद्रीय कारा में बंद शराब तस्कर मुर्शिद की पत्नी के शराब का धंधे संभालते ही अन्य शराब तस्कर भी सक्रिय हो गया है। बताया जाता है कि शराब तस्कर मुर्शीद की पत्नी पश्चिम बंगाल के दालकोला रेलवे गुमटी के समीप स्थित नकली शराब की फैक्ट्री में प्रतिदिन भारी मात्रा में नकली शराब बनाकर स्टोर करने का काम कर रही है । पुलिस की टीम शराब तस्कर मुर्शीद आलम की पत्नी के आने का इंतजार कर रही है । मुर्शीद की पत्नी पर पुलिस की टीम नजर बनाकर रख रही है। बताया जाता है कि मुर्शीद आलम से जेल में मिलने वालों पर विशेष ध्यान पुलिस की टीम के द्वारा रखी जा रही है । इस मामले को लेकर एसपी ने केंद्रीय कारा अधीक्षक को भी एहतियात बरतने का नर्दिेश दिया है। ताकि शराब तस्कर किसी तरह की कोई गड़बड़ी शराब से संबंधित मामले में जेल के अंदर से नहीं कर पाए।
चोरी की गाड़ी आसानी से बिक जाता है दालकोला में- चोरी की गाड़ी काफी आसानी से दालकोला के आसपास बिक जाता है। यही वजह है कि सीमांचल के पूर्णिया अररिया कटिहार किशनगंज के जिले में हुई गाड़ी को चोरी कर बेचने का मुख्य केंद्र दालकोला और समसी का इलाका बनता जा रहा है । कई बार पुलिस की टीम के द्वारा इस इलाकों से चोरी की गाड़ी भी बरामद किया है। दो माह पहले भी दालकोला थाना की पुलिस ने बिहार नंबर के 26 चोरी की गाड़ी को एक जगह से बरामद किया था। इस मामले को लेकर लगातार पूर्णिया पुलिस के द्वारा भी नजर रखी जा रही है।
सैकड़ों की संख्या में शराब के साथ पकड़ाया चोरी की गाड़ी- सैकड़ों की संख्या में चोरी की गाड़ी जिले के दर्जनों थाना में सड़ रहा है। इनमे से अधिकांश चोरी की गाड़ी शराब की खेप के साथ सदर , डगरूआ , मरंगा , बायसी , अमौर और अन्य थाना में मौजूद है । चोरी की गाड़ी के साथ पुलिस की टीम जब शराब की खेप बरामद करती है तो फिर उसे थाने परिसर में लाकर छोड़ दिया जाता है और उसका अनुसंधान त्वरित गति से नहीं होने का नतीजा है कि अभी भी हजारों की संख्या में शराब पकड़ी गई चोरी की गाड़ी अलग-अलग स्थानों में सड़ रहा है, जिसे कोई देखने वाला नहीं है।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it