पश्चिम बंगाल

मेट्रो की सुरंग खोदने से कई मकानों में आई दरार, केएमसी और मेट्रो अधिकारियों की बैठक आज

Renuka Sahu
13 May 2022 5:25 AM GMT
Crack in many houses due to digging of metro tunnel, meeting of KMC and Metro officials today
x

फाइल फोटो 

मध्य कोलकाता के भीड़ भाड़ वाले बऊबाजार के दुर्गा पिटुरी लेन में दस आवासीय भवनों में जमीन के नीचे चल रहे मेट्रो की सुरंग खुदाई की वजह से कथित तौर पर यहां के मकानों में दरार पड़ गए थे और इनके किसी भी समय गिरने की आशंका बन गई है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। मध्य कोलकाता के भीड़ भाड़ वाले बऊबाजार के दुर्गा पिटुरी लेन में दस आवासीय भवनों में जमीन के नीचे चल रहे मेट्रो ( Kolkata Metro ) की सुरंग खुदाई की वजह से कथित तौर पर यहां के मकानों में दरार पड़ गए थे और इनके किसी भी समय गिरने की आशंका बन गई है. इसीलिए सावधानी बरतते हुए पुलिस ने मकानों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचाया है. कोलकाता पुलिस की आपदा प्रबंधन टीम (Kolkata Police Disaster Management Team) की एक बड़ी टीम ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों और मेट्रो रेल अधिकारियों के साथ दुर्गा पिथुरी लेन में घटनास्थल का दौरा किया और रात भर की मेहनत के बाद सुरंग में निकल रहा पानी बंद करा दिया गया है. इसके साथ ही निगम आयुक्त ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को पूरी घटना पर रिपोर्ट सौंपी है, जबकि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कांग्रेस के अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने रेल मंत्री को पत्र लिखा है. आज निगम (KMC) के अधिकारी और मेट्रो के अधिकारियों के बीच बैठक होगी.

बता दें कि बुधवार की रात को घरों में दरार देखी गयी थी. घरों में दरारें आने के बाद, निवासी आवश्यक दस्तावेजों के साथ अपने आश्रयों से बाहर निकल आए थे. दुर्गा पिटुरी लेन मध्य कोलकाता के बाउबाजार इलाके में एक अत्यंत भीड़भाड़ वाली गली है, जिसमें अधिकांश आवासीय घर बेहद पुराने और जीर्ण-शीर्ण अवस्था में हैं.
बऊ बाजार में चल रहा है मेट्रो कॉरिडोर की सुरंग खुदाई का काम
साल्ट लेक सेक्टर पांच को कोलकाता होते हुए और हावड़ा के जोड़ने वाला 16.6 किलोमीटर लंबा ईस्ट वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर की सुरंग खुदाई का काम बऊ बाजार में चल रहा है. अगस्त 2019 में इसी क्षेत्र में मेट्रो के कार्यों की वजह से कुछ इमारतों में दरार आ गई थी और कुछ इमारतों के हिस्से गिर गए थे जिसके बाद काम बंद कर दिया गया था. कोलकाता मेट्रो रेलवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड (केएमआरसीएल) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'हमारे इंजीनियर मौके पर पहुंच गए हैं और उन्होंने गुरुवार रात भर मरम्मत का कार्य किया और सुरंग में बह रहे पानी को बंद किया गया है." इस घटना ने स्थानीय लोगों के लिए 2019 की यादें ताजा कर दीं, जिन्हें शहर में दिन भर की बारिश के बीच अपने घरों से बाहर निकलना पड़ा है.
सीएम ममता बनर्जी को निगम आयुक्त ने सौंपी रिपोर्ट
इलाके की एक वृद्ध मल्लिका दास ने कहा, पिछली बार, हमें अपना घर छोड़कर एक होटल में रुकना पड़ा था. मैं इस बार अपना सामान भी नहीं ले जा सकी. पूरी इमारत झुक गई है. स्थानीय तृणमूल विधायक नयना बंदोपाध्याय ने भी घटनास्थल का दौरा किया और स्थानीय लोगों से बात की. उन्होंने कहा, हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हर कोई सुरक्षित रहे. हम संबंधित अधिकारियों के संपर्क में हैं. " इस बीच ममता बनर्जी को कोलकाता नगर निगम के आयुक्त ने रिपोर्ट दी है. सीएम को पूरी घटना की जानकारी दी गई है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta