पश्चिम बंगाल

बांग्लादेश सीमा पर घुसपैठिए को बीएसएफ ने मारी गोली, मवेशी तस्कर की मौत

Kunti
9 Jan 2022 6:01 PM GMT
बांग्लादेश सीमा पर घुसपैठिए को बीएसएफ ने मारी गोली, मवेशी तस्कर की मौत
x
पश्चिम बंगाल से लगती बांग्लादेश की सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने एक बांग्लादेशी मवेशी तस्कर को मार गिराया।

पश्चिम बंगाल से लगती बांग्लादेश की सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने एक बांग्लादेशी मवेशी तस्कर को मार गिराया। वहीं, राज्य में अलग-अलग घटनाओं में कथित मवेशी तस्करों के हमलों में पुलिसबल के कई सदस्य घायल हो गए।

बीएसएफ ने कहा- हमलावर हो गए थे मवेशी तस्कर, बचाव में की फायरिंग
बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि शनिवार को 15-20 लोगों का एक समूह मालदा जिले के पन्नापुर में मवेशियों की तस्करी करने की कोशिश कर रहा था। जब उन्हें चेतावनी दी गई, तो वे सभी तेजी से जवानों की तरफ बढ़े। उन्होंने बताया कि सीमा सुरक्षा बल के जवानों में से एक ने आत्मरक्षा में गोली चलाई, जिसमें एक हमलावर मारा गया, जबकि बाकी भागने में सफल रहे। बीएसएफ ने बयान में कहा कि मृतक की पहचान बांग्लादेशी मकबूल हुसैन (25) के रूप में हुई है।
कूच बिहार में पुलिस पर हमला, छह गिरफ्तार
दूसरी तरफ एक अन्य घटना में कथित मवेशी तस्करों ने शनिवार देर रात कूचबिहार जिले के मेखलीगंज में छापेमारी के दौरान पुलिस की टीम पर हमला कर दिया। उन्होंने कहा कि हमले के बाद एक पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गया और उसे इलाज की जरूरत है, जबकि कुछ अन्य को भी चोटें आई हैं। कूचबिहार के पुलिस कमिश्नर ने कहा कि पुलिस ने छह हमलावरों को गिरफ्तार किया है। एसपी ने कहा, "हमारी टीम ने उनके पास से 34 मवेशी जब्त किए हैं। छापेमारी जारी रहेगी।''
घटना पर राजनीतिक बहस शुरू
इस घटना को लेकर राजनीतिक विवाद उत्पन्न हो गया, क्योंकि भाजपा ने इस घटना के लिए सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को जिम्मेदार ठहराया। भाजपा उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ''जहां टीएमसी अंतरराष्ट्रीय सीमा से बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को 50 किलोमीटर तक बढ़ाने के केंद्र के फैसले का जमकर विरोध करती है, वहीं पशु तस्करों को पार्टी का समर्थन उन्हें राज्य पुलिस पर हमला करने के लिए प्रेरित करता है। मेखलीगंज इस समस्या का एक छोटा सा हिस्सा है।''
टीएमसी के दिनहाटा विधायक उदयन गुहा ने जवाब में कहा कि यह घटना साबित करती है कि राज्य पुलिस अपना काम कर रही है। केंद्र ने पिछले साल बीएसएफ अधिनियम में संशोधन किया था, ताकि बीएसएफ को पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम में अंतरराष्ट्रीय सीमा से 15 किलोमीटर के बजाय 50 किलोमीटर के दायरे में तलाशी, जब्ती और गिरफ्तारी करने के लिए अधिकृत किया जा सके। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल और पंजाब की राज्य विधानसभाओं ने बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने वाली अधिसूचना के खिलाफ प्रस्ताव पारित किया है
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it