पश्चिम बंगाल

बांग्लादेशी ठग ने पश्चिम बंगाल में आकर खरीदी संपत्तियां, मास्टरमाइंड समेत 6 साथियों को ईडी ने किया अरेस्ट

jantaserishta.com
15 May 2022 1:27 PM GMT
बांग्लादेशी ठग ने पश्चिम बंगाल में आकर खरीदी संपत्तियां, मास्टरमाइंड समेत 6 साथियों को ईडी ने किया अरेस्ट
x
पढ़े पूरी खबर

प्रवर्तन निदेशालय (ED) को रविवार को बड़ी सफलता हाथ लगी है. ईडी ने बांग्लादेश में 9 हजार करोड़ की बैंक धोखाधड़ी करने वाले मास्टरमाइंड समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए आरोपी बांग्लादेश के रहने वाले हैं. ईडी ने सभी 6 आरोपियों पर मनी लॉन्ड्रिंग के तहत कार्रवाई की है. आरोपी भारत में पहचान छिपाकर रह रहे थे. उन्होंने यहां अपना पहचान पत्र, आधार कार्ड और पासपोर्ट तक बनवा लिए थे. पश्चिम बंगाल में संपत्तियां खरीदकर बिजनेस कर रहे थे.

ईडी ने इस पूरे गिरोह का खुलासा किया है. ईडी के मुताबिक, प्रशांत कुमार हलदार (Proshanta Kumar Halder) इस पूरे मामले का मास्टरमाइंड है. उसने यहां भारतीय नागरिक के रूप में अपनी पहचान बनाई और फिर धोखाधड़ी के पैसे के जरिए यहां संपत्तियां खरीदीं. इसके साथ ही व्यापार शुरू कर दिया. इस संबंध में जांच की जा रही है.
ईडी ने 11 ठिकानों पर छापेमारी की और खुल गई पोल
ईडी ने बांग्लादेशी नागरिकों की गिरफ्तारी से पहले उनके 11 ठिकानों पर छापा मारा और तलाशी ली. ईडी ने पश्चिम बंगाल में प्रशांत कुमार हलदर, प्रीतीश कुमार हलदर और उनके सहयोगी के ठिकानों पर जांच की. उसके बाद प्रशांत कुमार हलदर को उसके पांच अन्य साथियों के साथ गिरफ्तार किया गया.
ईडी का कहना था कि जांच में सामने आया कि प्रशांत कुमार हलदर पश्चिम बंगाल में भारतीय नागरिक के रूप में रहता था और अपना नाम भी बदल लिया था. बंगाल में उसे शिबशंकर हलदर के तौर पर जानते थे. यह भी पता चला कि उसने अपने अन्य सहयोगियों के साथ फर्जी तरीके से राशन कार्ड, भारतीय मतदाता पहचान पत्र, पैन कार्ड और आधार कार्ड जैसे सरकारी पहचान पत्र बनवा लिए थे.
फर्जी पहचान पत्र बनवाया और करने लगा व्यापार
ईडी का कहना था कि प्रशांत कुमार ने भारत में भी धोखाधड़ी की है और सरकारी विभागों को गुमराह किया. उसने बांग्लादेशी नागरिक होते हुए भी अपनी पहचान छिपाई और फर्जी पहचान के आधार पर भारत में कंपनियां बना डालीं. यहां तक ​​कि पश्चिम बंगाल में संपत्तियां भी खरीद ली थीं.
ईडी ने जांच के बाद आरोपियों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम अधिनियम के तहत केस दर्ज किया. ईडी का कहना था कि प्रशांत कुमार हलदर ने बांग्लादेश में 10 हजार करोड़ से ज्यादा बांग्लादेश टका (भारत 9 हजार करोड़ रुपए) की बैंक धोखाधड़ी की है. वहां उस पर केस दर्ज है और उसकी तलाश की जा रही है. आरोप है कि प्रशांत कुमार ने बांग्लादेश के बाहर कई अन्य देशों में भी पैसों की हेरा-फेरी की है. बांग्लादेश और भारतीय पासपोर्ट के अलावा उसके पास ग्रेनेडा पासपोर्ट भी पाया गया.
इंटरपोल ने रेड कॉर्नर का नोटिस जारी किया
इंटरपोल ने बांग्लादेश सरकार के अनुरोध पर प्रशांत कुमार हलदर के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस (आरसीएन) भी जारी किया है. ईडी ने मुख्य आरोपी प्रशांत कुमार हलदर उर्फ ​​शिबाशंकर हलदर के साथ उसके साथियों स्वपन मैत्रा उर्फ ​​स्वपन मिस्त्री, उत्तम मैत्रा उर्फ ​​उत्तम मिस्त्री, इमाम होसियन उर्फ ​​इमोन हलदर, अमाना सुल्ताना उर्फ ​​शर्मी हलदर और प्रणेश कुमार हलदर को भी गिरफ्तार किया है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta