पश्चिम बंगाल

दिल्ली, मुंबई के बाद कोलकाता में भी कोरोना से बिगड़े हालात, 5 दिन में 10 गुना हुए केस, नई गाइडलाइंस जारी

Renuka Sahu
3 Jan 2022 2:20 AM GMT
दिल्ली, मुंबई के बाद कोलकाता में भी कोरोना से बिगड़े हालात, 5 दिन में 10 गुना हुए केस, नई गाइडलाइंस जारी
x

फाइल फोटो 

भारत में कोरोना की तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है. जब कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है तो राज्य सरकारों की ओर से कड़े फैसले लेने की शुरुआत भी हो चुकी है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। भारत में कोरोना की तीसरी लहर (Corona Third Wave) ने दस्तक दे दी है. जब कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है तो राज्य सरकारों की ओर से कड़े फैसले लेने की शुरुआत भी हो चुकी है. क्योंकि चुनावी राज्यों में रैलियों का शोर थम नहीं रहा, जश्न के नाम पर आम लोगों का जमावड़ा कम हो नहीं रहा. दिल्ली (Delhi), मुंबई (Mumbai) के बाद कोलकाता (Kolkara) में भी कोरोना से हालात बिगड़ने लगे हैं. 5 दिन में 10 गुना केस हो गए. लोगों की इसी लापरवाही और कोरोना को कंट्रोल में करने के लिए राज्य सरकार ने कई कड़े निर्देश जारी किए हैं.

पश्चिम बंगाल सरकार (West Bengal Govt) ने शादियों और अंतिम संस्कार में जुटने वली भीड़ पर भी नकेल लगाने की कोशिश की है.तो पूरे राज्य में जिम, फिटनेस सेंटर, विक्टोरिया मेमोरियल को एक बार फिर बंद कर दिया गया है.
बंगाल सरकार की नई गाइडलाइंस
पश्चिम बंगाल में स्कूल-कॉलेज बंद हुए
ऑफिस में 50% कर्मचारियों की ही उपस्थिति रहेगी
बाजार, शॉपिंग मॉल, स्विमिंग पूल, पार्लर, स्पा सब बंद रहेंगे
ट्रेन और मेट्रो ट्रेन 50% क्षमता के साथ ही चलेंगी
रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक सिर्फ आवश्यक सेवाओं को छूट रहेगी
5 जनवरी से दिल्ली और मुंबई से विमानों के घरेलू उड़ान पर रोक
कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए कलकत्ता हाइकोर्ट ने भी आज से ज्यादातर मामलों की सुनवाई ऑनलाइन तरीके से करने का फैसला किया है. ऐसा ही फैसला दिल्ली हाईकोर्ट ने भी लिया है जहां आज से मामले की सुनवाई ऑनलाइन ही होगी. क्योंकि दिल्ली सरकार पहले ही येलो अलर्ट का एलान कर चुकी है. हाईकोर्ट में ऑनलाइन तरीके से सुनवाई 15 जनवरी तक जारी रहेगी.
कोविड महाराष्ट्र को भी डरा रहा है और वहां भी राज्य सरकार कड़े फैसले करने को मजबूर हैं. धारा 144 तो पहले से लागू है. अब वहां भी उच्च शिक्षण संस्थानों को लेकिन विचार किया जा रहा है कि शुरू किया जाए या फिर बंद ही रखा जाए. उच्च शिक्षामंत्री उदय सामंत के मुताबिक 2 से 3 दिनों में इस पर फैसला आ जाएगा.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it