पश्चिम बंगाल

TMC विधायक के कथित वीडियो से विवाद मामले में पुलिस अधिकारी को धमकाने का आरोप

Kunti
26 Dec 2021 6:00 PM GMT
TMC विधायक के कथित वीडियो से विवाद मामले में पुलिस अधिकारी को धमकाने का आरोप
x
पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के विधायक हुमायूं कबीर ने रविवार को विवाद खड़ा कर दिया।

पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के विधायक हुमायूं कबीर ने रविवार को विवाद खड़ा कर दिया। टीएमसी विधायक ने कथित तौर पर एक पुलिस थाने के प्रभारी अधिकारी से कहा कि वह विपक्ष के एजेंट की तरह काम करना बंद करें या फिर तबादले के लिए तैयार रहें। यह दावा सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक कथित वीडियो में किया जा रहा है, जिसमें मुर्शिदाबाद जिले की भरतपुर विधानसभा से विधायक हुमायूं कबीर को यह बात कहते सुने गए।

इस वीडियो में वह पार्टी कार्यकर्ताओं की एक बैठक को संबोधित करते नजर आ रहे हैं। वीडियो में कबीर कहते नजर आ रहे हैं, 'टारजन (एक स्थानीय पार्टी कार्यकर्ता) को भरतपुर के ओसी (पुलिस प्रभारी अधिकारी) ने बुलाया था। मैंने टारजन से कहा है कि या तो ओसी (विपक्ष के) एजेंट की तरह काम करना बंद कर दें या अगले 48 घंटों के अंदर तबादले के लिए तैयार रहें। अगर जरूरत पड़ी तो मैं पुलिस थाने जाऊंगा और ओसी के सामने उनकी मेज पर पैर रख कर बैठूंगा।'
टीएमसी ने कहा- वीडियो की सच्चाई स्पष्ट नहीं, विधायक से बात करेंगे
कथित वीडियो में वह आगे कहते हैं, आप (ओसी) अपने आप समझ जाएंगे कि मैं किस मिट्टी का बना हुआ हूं।' हालांकि, इस वीडियो की सत्यता की पुष्टि अभी नहीं हो पाई है। वहीं, टीएमसी के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा कि यह साफ नहीं है कि वीडियो अभी का है या पुरानी रिकॉर्डिंग है। हम ऐसे व्यवहार की अनुमति नहीं देते हैं और पार्टी हुमायूं कबीर से इस संबंध में बात करेगी। इस वीडियो के सामने आने के बाद विपक्षी भाजपा ने टीएमसी नेताओं को निशाने पर लिया है।

भाजपा ने टीएमसी को निशाने पर लिया, हुमायूं ने खारिज किए आरोप
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि कबीर का बयान दिखाता है कि पुलिस की ओर सत्ताधारी पार्टी का रवैया कैसा है। उन्होंने कहा कि कई टीएमसी नेता ऐसी अभद्र भाषा में बात करते हैं। उधर, हुमायूं ने इन आरोपों से साफ इनकार किया है। उन्होंने कहा कि मैंने पुलिस अधिकारी को केवल चेतावनी दी थी कि उन्हें किसी पार्टी के पक्ष में काम नहीं करना चाहिए। उन्होंने थाने के पास टीएमसी के कार्यक्रम को अनुमति नहीं दी थी, उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए।

2018 में भाजपा में शामिल हुए थे, हार के बाद फिर टीएमसी में वापसी
तृणमलू कांग्रेस के नेता हुमायूं कबीर साल 2018 में टीएमसी का साथ छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए थे। लेकिन लोकसभा चुनाव में हार का सामना करने के बाद उन्होंने फिर ममता बनर्जी की अध्यक्षता वाली टीएमसी में वापसी की थी। टीएमसी में फिर से शामिल होने के बाद विधानसभा चुनाव में पार्टी ने उन्हें भरतपुर विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया था, जिसमें उन्होंने भाजपा के उम्मीदवार ईमान कल्याण मुखर्जी को 43 हजार वोटों से हराकर जीत हासिल की थी।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it