उत्तराखंड

उत्तराखंड चुनाव : वोटिंग के बाद BJP में कलह, विधायक संजय गुप्ता ने अध्यक्ष मदन कौशिक को बताया गद्दार, BSP उम्मीदवारों का किया समर्थन

Renuka Sahu
15 Feb 2022 4:38 AM GMT
उत्तराखंड चुनाव : वोटिंग के बाद BJP में कलह, विधायक संजय गुप्ता ने अध्यक्ष मदन कौशिक को बताया गद्दार, BSP उम्मीदवारों का किया समर्थन
x

फाइल फोटो 

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी में कलह उजागर हो गई है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) में कलह उजागर हो गई है। लक्सर सीट से भाजपा विधायक संजय गुप्ता ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए उन्हें गद्दार बताकर पार्टी से उनके खिलाफ सख्त एक्शन लेने की मांग की है।

विधायक संजय गुप्ता ने आरोप लगाया कि उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक ने इस चुनाव में पार्टी की हार सुनिश्चित करने के लिए कई भाजपा उम्मीदवारों के खिलाफ काम किया है। गुप्ता ने कहा कि कौशिक ने मेरे खिलाफ चुनाव लड़ रहे बसपा उम्मीदवार का समर्थन किया। वह देशद्रोही हैं। मैं भाजपा नेतृत्व से उन्हें पार्टी से बर्खास्त करने की मांग करता हूं।
वहीं, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड में लोगों ने भारी संख्या में मतदान कर इतिहास रच दिया है। मैं उम्मीद करता हूं कि नई सरकार उत्तराखंड के सुनहरे भविष्य के लिए काम करेगी।
उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में 65 प्रतिशत से अधिक मतदान
उत्तराखंड में सभी 70 विधानसभा सीट के लिए सोमवार को हुए चुनाव में 65 फीसदी से अधिक मतदान हुआ जहां 632 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में बंद हो गई।
उत्तराखंड की मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने बताया कि प्रदेश में सभी 11697 मतदान केंद्रों पर मतदान शांतिपूर्ण रहा और 65.1 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। हालांकि, उन्होंने बताया कि इस मतदान प्रतिशत के आंकड़ों में अंतिम मिलान के बाद संशोधन हो सकता है।
सौजन्या ने कहा कि कुछ जगहों पर ईवीएम मशीन और वीवीपैट में तकनीकी खराबी की सूचना मिली, लेकिन उन्हें तत्काल सेक्टर मजिस्ट्रेट द्वारा रिजर्व मशीन से बदल दिया गया।
सभी 13 जिलों में सुबह आठ बजे से मतदान शुरू हुआ और शाम छह बजे मतदान का समय समाप्त होने तक मतदान केंद्रों पर लंबी कतारें लगी थीं। सौजन्या ने बताया कि शाम छह बजे तक मतदान केंद्रों पर पहुंचे मतदाताओं से मतदान कराया गया।
वर्ष 2017 में हुए पिछले विधानसभा चुनाव में 65.56 फीसदी मतदान हुआ था, जबकि वर्ष 2012 में 67.22 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था।
कई मतदान केंद्रों पर 100 वर्ष के बुजुर्ग भी अपना मत देने पहुंचे। बागेश्वर जिले के कपकोट विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र में 100 वर्षीय नारायण सिंह कपकोटी मतदान के लिए पहुंचे। जिला प्रशासन ने शॉल भेंट करके उन्हें सम्मानित किया। वहीं, कोटद्वार विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र पर 100 वर्षीय विश्वेशरी देवी भी अपने नाती-पोतों के साथ छड़ी लेकर पहुंचीं और अपना वोट दिया। इसके अलावा, गर्भवती स्त्रियां और दिव्यांगजन डोली में बैठकर मतदान के लिए पहुंचे।
उधर, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ जिलों से मिली सूचना के अनुसार, करीब 10 गांवों के मतदाताओं ने अपनी समस्याओं का समाधान न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए मतदान का बहिष्कार किया।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta