उत्तराखंड

परिवहन प्राधिकरण ने 10 साल से ज़्यादा पुराने विक्रम, ऑटो को हटाने का लिया फैसला

Admin Delhi 1
2 Nov 2022 2:37 PM GMT
परिवहन प्राधिकरण ने 10 साल से ज़्यादा पुराने विक्रम, ऑटो को हटाने का लिया फैसला
x

देवभूमि देहरादून न्यूज़: संभागीय परिवहन प्राधिकरण ने देहरादून, ऋषिकेश, हरिद्वार, रुड़की और विकासनगर में पिछले 10 साल से अधिक पुराने डीजल और पेट्रोल से चलने वाले ऑटो रिक्शा और विक्रम वाहनों को मार्च 2023 तक सड़कों से हटाने का फैसला लिया है। इनकी जगह सड़कों पर सीएनजी, बीएस-6 और इलेक्ट्रिक वाहन चलेंगे। संभागीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए) की लगभग साढ़े 3 साल बाद हुई बैठक में अहम फैसले हुए हैं। एनजीटी ने वाहनों को ग्रीन और क्लीन एनर्जी में बदलने के आदेश दिये हैं। पर्यावरण प्रदूषण को कम करने के लिए पहले चरण में संभाग के अधीन देहरादून हरिद्वार और टिहरी जिले में डीजल और पेट्रोल से चलने वाले ऑटो रिक्शा और विक्रम वालों को सड़क से बाहर करने का फैसला लिया गया है। डीजल और पेट्रोल ऑटो रिक्शा और विक्रम संचालकों को परमिट पर सीएनजी, बीएस-6 और इलेक्ट्रिक बाहर हब विकल्प दिया गया है।

आरटीओ सुनील शर्मा ने बताया कि एनजीटी ने प्रदूषण को कम करने के साफ निर्देश दिये हैं। साथ ही देहरादून में ट्रैफिक की बहुत ज्यादा समस्या है। इन सभी के मद्देनजर संभागीय परिवहन प्राधिकरण की बैठक में यह विचार किया गया कि यहां पर चलने वाले विक्रम और ऑटो रिक्शा के स्थान पर सीएनजी, इलेक्ट्रिक या फिर पेट्रोल के बीएस-6 मानक पूरे करने वाले वाहनों का संचालन किया जाय यह कार्य चरणबद्ध तरीके से किया जाएगा।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta