उत्तराखंड

अब पर्यटक लोग योग नगरी ऋषिकेश में बजरंग पुल का उठा पाएंगे आनंद

Admin Delhi 1
17 Nov 2022 8:48 AM GMT
अब पर्यटक लोग योग नगरी ऋषिकेश में बजरंग पुल का उठा पाएंगे आनंद
x

देवभूमि न्यूज़: उत्तराखंड का शहर ऋषिकेश योग नगरी के रूप में भी काफी फेमस है। पवित्र नदी गंगा के किनारे बसी ये जगह देवी भूमि के शुरू होने का संकेत देती है। दुनियाभर के पर्यटक यहां घूमने-फिरने के लिए आते रहते हैं। यहां आने वाला हर व्यक्ति गंगा नदी के ऊपर स्थित बरसों पुराने लक्ष्मण झूले पर भी जरूर जाता है, लेकिन अब ये झूला काफी समय से बंद है, लोग बस अब राम झूले से ही ऋषिकेश का नजारा देख पाते हैं। 100 साल पुराने इस पुल पर आए दिन मरम्मत का काम चलता रहता है। वैसे सुरक्षा के लिहाज से इसे अब आवाजाही के लिए खोला भी नहीं जाएगा। जी हां, ये सच हैं लेकिन आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि अब इसकी जगह पर भारत का पहला ग्लास ब्रिज यानी कांच का पुल तैयार होने वाला है। उत्तराखंड सरकार का लोक निर्माण विभाग यहां ऋषिकेश में बजरंग सेतु का निर्माण करा रहा है, जो लक्ष्मण झूला पुल का विकल्प बनेगा। इतने दिन से जो पुल बंद था जल्द ही आप देश के पहले कांच पुल का रोमांच भरा अनुभव ले पाएंगे। लोक निर्माण विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि आने वाले साल 2023 के जुलाई महीने में इस पुल का निर्माण पूरा हो जाएगा। उनका कहना है कि नए पुल के लिए गंगा के दोनों किनारों पर फाउंडेशन का काम जारी है। दिलचस्प बात तो ये है बजरंग सेतु के दोनों ओर जिन टावर का निर्माण किया जा रहा है, उन्हें केदारनाथ की आकृति की तरह बनाया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि टावर की ऊंचाई करीबन 27 मीटर होगी। ये ब्रिज पूरा 133 लंबा और आठ मीटर चौड़ा और तीन लेन में होगा। इस पुल के बीच में छोटे चार पहिए वाहन भी गुजर सकेंगे। पुल के बीच में ढाई-ढाई मीटर की डबल लेन दो पहिए और चार पहिए वाहनों के लिए होगी। पुल के दोनों तरफ कांच के लिए पैदल पथ बनाया जाएगा। इस पर खड़े सैलानी 57 मीटर की ऊंचाई से गंगा का अद्भुत नजारा देख सकेंगे।


कांच की मोटाई 65 मिमी है, जो बेहद मजबूत मानी जाती है। ब्रिज को कुल 68 करोड़ रुपए के बजट में तैयार किया जा रहा है। आपको बता दें, बजरंग पुल जिस लक्ष्मण झूला पुल का विकल्प बनेगा, उस ब्रिज का निर्माण ब्रिटिश शासनकाल में साल 1927 से 29 के बीच किया गया था। 12 जुलाई, 2019 में लोक निर्माण विभाग की सेफ्टी ऑडिट रिपोर्ट में इस ब्रिज को असुरक्षित मानते हुए प्रशासन ने इस पर आना जाना बंद कर दिया था। इसके बाद नया पुल बनाने की तैयारी भी शुरू हो गई है। जुलाई 2019 के बाद से लक्ष्मण झूला पुल पर आवाजाही बंद है, अगर आप आजकल ऋषिकेश में घूमने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो लक्ष्मण झूला को अपनी लिस्ट से निकाल दीजिए। नए ब्रिज को 'स्टेट ऑफ आर्ट' के तौर पर विकसित किया जाएगा।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta