उत्तराखंड

कोतवाली पुलिस ने दहेज उत्पीड़न के दो अलग-अलग मामलों में नौ लोगों ने खिलाफ दहेज उत्पीड़न की रिपोर्ट दर्ज

Shantanu Roy
29 Nov 2021 11:59 AM GMT
कोतवाली पुलिस ने दहेज उत्पीड़न के दो अलग-अलग मामलों में नौ लोगों ने खिलाफ दहेज उत्पीड़न की रिपोर्ट दर्ज
x
कोतवाली पुलिस ने दहेज उत्पीड़न के दो अलग-अलग मामलों में नौ लोगों ने खिलाफ देहज उत्पीड़न की रिपोर्ट दर्ज की है. पहला मामला नई बस्ती का है जबकि, दूसरा मामला मोहल्ला सुभाष नगर का बताया जा रहा है.

जनता से रिश्ता। कोतवाली पुलिस ने दहेज उत्पीड़न के दो अलग-अलग मामलों में नौ लोगों ने खिलाफ देहज उत्पीड़न की रिपोर्ट दर्ज की है. पहला मामला नई बस्ती का है जबकि, दूसरा मामला मोहल्ला सुभाष नगर का बताया जा रहा है. वहीं, पुलिस अब इन दोनों मामलों की पड़ताल में जुट गई है.

दरअसल, दहेज उत्पीड़न के पहले मामले के तहत नई बस्ती निवासी अर्शी परवीन ने पुलिस को तहरीर देकर कहा कि उसकी शादी मौ. यामीन निवासी मोहल्ला विजयनगर नई बस्ती काशीपुर के साथ हुई थी. शादी में उसके घर वालों ने दहेज का सभी सामान दिया था. जिससे ससुराल वाले खुश नहीं थे. शादी के तीन दिन बाद ही ससुराली उसे कम दहेज लाने का ताना देने लगे. शादी के 15 वें दिन पति मौ. यामीन, ससुर याकूब, सास शाहजहां, जेठ मौ. मुस्तकीम ने एक लाख रुपए व बाइक की मांग की. जब उसने कहा कि उसके परिवार वालों की हैसियत नकद धनराशि व बाइक देने की नहीं है तो ससुरालियों ने उसके साथ मारपीट की.
वहीं, इस बीच वह गर्भवती हो गई जिसके बाद से ससुरालियों ने उसको प्रताड़ित करना शुरू कर दिया. जब उसने ससुराल वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की तो ससुरालियों ने माफी मांग ली. लेकिन इसके बाद भी ससुराल वालों के व्यवहार में कोई अंतर नहीं आया. पीड़िता ने कहा कि जब वह दोबारा गर्भवती हुई तो ससुराल वालों ने एक बच्चा काफी होने की बात कहते हुए उसको दवाई खिला दी. जिससे उसका गर्भपात हो गया.
पीड़िता ने कहा कि आरोपियों ने कई बार उसके मायके आकर उसके और परिवार वालों के साथ मारपीट की. पुलिस ने पीड़िता की तहरीर पर आरोपी पति समेत ससुर, सास व जेठ के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कर लिया है.
दूसरे मामले के तहत मोहल्ला सुभाष नगर निवासी निशा ने पुलिस को तहरीर देकर कहा कि उसकी शादी हिमांशु अरोरा निवासी आवास-विकास के साथ हुई थी. शादी में उसके परिवार वालों ने अपनी हैसियत के अनुसार घरेलू साजो सामान उपहार स्वरूप दिया था. लेकिन ससुराल वाले दिए गए सामान से खुश नहीं थे. शादी के दो महीने बाद ही ससुराल वाले कम दहेज लाने के ताने देकर प्रताड़ित करने लगे और दहेज में पांच लाख रुपए नकद की मांग करने लगे. जब उसने परिवार वालों द्वारा पांच लाख रुपए नहीं देने की बात कही तो ससुराली उसे भूखा रखने लगे.

पीड़िता का आरोप है कि तीन ननद भी सास-ससुर को उसके खिलाफ भड़काती रहती हैं. जिसके बाद ससुरालियों का उत्पीड़न और अधिक बढ़ गया. पांच लाख रुपए लाने की बात कहते हुए ससुरालियों ने उसे घर से निकाल दिया. पुलिस ने पीड़िता की तहरीर पर पति हिमांशु, सास गीता अरोरा, ससुर ओम प्रकाश, ननद योगिता व राखी के खिलाफ दहेज उत्पीड़न की रिपोर्ट दर्ज कर ली है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta