उत्तर प्रदेश

युवक ने अपनी 8 माह की गर्भवती पत्नी का गला रेत कर बेरहमी से हत्या कर दी

Bhumika Sahu
15 Aug 2022 11:01 AM GMT
युवक ने अपनी 8 माह की गर्भवती पत्नी का गला रेत कर बेरहमी से हत्या कर दी
x
गर्भवती पत्नी का गला रेत कर बेरहमी से हत्या कर दी

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक महिला दहेज की भेंट चढ़ गई। महिला के पति ने उसका गलाकाट कर हत्या कर दी गई। मृतका आठ माह के गर्भ से थी। बताया जा रहा है कि महिला की हत्या के बाद आरोपी पति ने महिला के चाचा को फोन कर सूचित किया था कि मैंने तुम्हारी बेटी की हत्या कर दी है, घर आ जाइए। जिसके बाद मृतका के मायकेवालों ने आरोपी के परिवार वालों के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। हांलाकि आरोपी मायकेवालों को घटना की सूचना देकर मौके से फरार हो गया। यह मामला गाजियाबाद के नंदग्राम स्थिति मोरटी गांव का है।

दहेज न मिलने पर करते थे प्रताड़ित
मृतका के मायके वालों ने ससुराल पक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि कि उनकी बेटी को शादी के बाद से लगातार दहेज के लिए परेशान किया जा रहा था। मृतका टीला मोड़ थानाक्षेत्र के लक्ष्मी गार्डन निवासी रमेश पाल की बेटी थी। उन्होंने बताया कि वर्ष 2016 में उन्होंने अपनी बेटी तन्नू की शादी मोरटी निवासी अंकित पाल से की थी। वह एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है। शादी के बाद से तन्नू का पति और उसके ससुराल वाले लगातार 10 लाख रुपए और स्कॉर्पियो कार मायके से लाने की मांग कर रहे थे। मांग पूरी न होने पर उन्होंने से प्रताड़ित करना शुरूकर दिया।
चाचा ससुर को दी थी हत्या की जानकारी
शादी के कुछ समय बाद तन्नू ने बेटी को जन्म दिया। बेटी होने पर ससुरालवालों ने उसे और अधिक परेशान करना शुरूकर दिया। दहेज न मिलने पर ससुराल पक्ष के लोग उसे और उसकी बेटी को जान से मारने की धमकी देते थे। मृतका के मायके वालों का कहना है कि अंकित और उसके परिवार ने मिलकर उनकी बेटी की गला काटकर हत्या कर दी। करीब सुबह चार बजे उसने हत्या की जानकारी अपने चाचा ससुर को दी। बेटी के मौत की सूचना मिलते ही परिजनों ने बेटी के ससुराल पहुंच कर हंगामा करना शुरूकर दिया। तन्नू के पिता रमेश पाल के अनुसार, उनकी बेटी 8 महीने की गर्भवती थी। कुछ दिन पहले 13 अगस्त को उनका बेट सिंदारा देने उसके घर गया था।
आरोपी ने किया सरेंडर
तब मृतका ने अपने भाई को ससुराल वालों द्वारा दी जा रही प्रताड़नाओं के बारे में बताया था। उसने अपने भाई से कहा था कि पापा से कह देना कि वह उसे यहां से ले जाएं। बेटे ने घर आकर अपने पिता को सारी बात बताई थी। लेकिन उन्होंने सोचा कि धीरे-धीरे सब सही हो जाएगा। रमेश पाल ने रोते हुए कहा कि काश उन्होंने अपनी बेटी की बात मान ली होती तो आज उनकी बेटी जिंदा होती। बता दें कि आरोपी मौके फरार हो गया था। जिसके बाद रविवार को उसने खुद थाने में आकर अपने आप को पुलिस के हवाले कर दिया। एसएचओ नंदग्राम मुनेंद्र सिंह ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही मायके वालों की तहरीर पर मृतका के ननद-ननदोई, जेठ-जिठानी और पति के खिलाफ केस दर्ज कर कार्यवाही शुरूकर दी है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta