उत्तर प्रदेश

पुलिस ने फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले युवक को हिरासत में लिया

Admin Delhi 1
25 Nov 2022 8:50 AM GMT
पुलिस ने फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले युवक को हिरासत में लिया
x

मेरठ न्यूज़: बिल्डर प्रदीप गुप्ता उर्फ पिंकी के कमला नगर स्थित आवास में हुई करोड़ों की चोरी के मामले में पुलिस ने बहादुर का फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले युवक को हिरासत में ले लिया है। इस युवक की जानकारी के आधार पर क्राइम ब्रांच की टीम नेपाल के एक टूंटा के लिये रवाना कर दी गई है। बिल्डर प्रदीप गुप्ता के घर चोरी हुए करोड़ों की चोरी के मामले में पुलिस ने लखीमपुर खीरी में आधार कार्ड बनाने वाले एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है कि इस व्यक्ति ने ही नेपाली नौकर वीर बहादुर का फर्जी आधार कार्ड बनाया था। पुलिस का मानना है कि इस व्यक्ति ने नेपाल के एक गांव का पता बताया है और कहा कि संभवत इस गांव से नौकर के कनेक्शन का पता चल जाए। इस सूचना के बाद क्राइम ब्रांच की एक टीम नेपाल के लिये रवाना कर दी गई है। एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि नेपाल के लिये आज रात टीम रवाना की जा रही है। हो सकता है कि नौकर के बारे में कुछ जानकारी इस गांव के लोगों से मिल जाए। लखीमपुर खीरी में डेरा जमाये बैठी पुलिस के हाथ ये सूचना लगी है। पुलिस के पास अभी इस बात की पुख्ता जानकारी भी नहीं है कि बहादुर अपने साथियों के साथ नेपाल गया भी है कि नहीं। इसके पीछे मोबाइल लोकेशन और नंबर का न होना बताया जा रहा है।

सीसीटीवी कैमरे में दो दोस्तों की तलाश: पुलिस सीसीटीवी कैमरे में नौकर के साथ दिख रहे दो दोस्तों के बारे में जानकारी जुटा रही है। फोटो में दोनों युवक टोपी लगाए हुए हैं और इस कारण वो पहचान में नहीं आ रहे है। इनके मोबाइल नंबर की तलाश जोरों पर चल रही है। पुलिस का मानना है कि बहादुर ने अपने दोस्तों की मदद से इस बड़ी चोरी को अंजाम दिया है। चोरी के छह दिन बाद भी पुलिस के पास अभी तक पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं जिस आधार पर कहा जा सके कि चोरी को लेकर कोई सुराग लगा है। टीपी नगर थाने के नजदीक रहने वाले बिल्डर व ट्रांसपोर्टर प्रदीप गुप्ता उर्फ पिंकी रविवार को दिल्ली अपनी बेटी सांची गुप्ता की सगाई में गए थे। तभी आवास पर कार्यरत नेपाली नौकर वीर बहादुर 10 लाख रुपये नकद और 80 लाख की कीमत के जेवरात लेकर फरार हो गया।

बिल्डर प्रदीप गुप्ता ने अभी तक पुलिस को चोरी हुए जेवरातों की सूची नहीं दी है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हाई प्रोफाइल मामला होने के कारण हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं और जहां जहां सूचना मिल रही है वहां पुलिस दल भेजे जा रहे हैं।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta