उत्तर प्रदेश

ताजनगरी आगरा में अब कुत्ते-बिल्ली पालने वालों को देना होगा टैक्स, जानिए नए नियम

Renuka Sahu
4 Jun 2022 3:10 AM GMT
Now dog-cat owners will have to pay tax in Tajnagri Agra, know the new rules
x

फाइल फोटो 

ताजनगरी आगरा में कुत्ते और बिल्लियों को पालने वालों को सालाना 500 रुपये का टैक्स नगर निगम को चुकाना होगा.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। ताजनगरी आगरा में कुत्ते (Dog) और बिल्लियों (Cat) को पालने वालों को सालाना 500 रुपये का टैक्स नगर निगम को चुकाना होगा. जी हां! आगरा नगर निगम में एक प्रस्ताव पास किया हैं. आगरा के जो लोग कुत्ता या बिल्ली पालते है, या पालने वाले है उनको नगर निगम में अपने पेट्स या फिर टॉम का रजिस्ट्रेशन कराना होगा. जिससे की निगम के पास जानकारी रहे कि कितने लोग अपने घरों में जानवरों को पाल रहे है. इसके लिए आगरा नगर निगम के द्वारा बकायदा रजिस्ट्रेशन फॉर्म जारी किया जाएगा. जो की ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरह से लोग भर सकेंगे. रजिस्ट्रेशन करते समय लोगो को रजिस्ट्रेशन फीस जमा करनी होगी. विदेशी किस्म के कुत्ते और बिल्ली की रजिस्ट्रेशन फीस एक हजार और देसी किस्म के कुत्ते और बिल्ली की रजिस्ट्रेशन फीस दो केटेगरी में रखी गई है. एक केटेगरी में 500 तो दूसरी में 100 रुपए बतौर रजिस्ट्रेशन फीस के जमा करना होगा.

सीएम योगी ने दिए थे निर्देश
आगरा के नगर आयुक्त निखिल टी फुंडे ने बताया कि बीते दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथके द्वारा एक बैठक की गई थी. जिसमे निर्देश दिए गए थे कि जो लोग अपने घरों में कुत्ता, बिल्ली या फिर अन्य कोई जानवर पालते है, उनका रजिस्ट्रेशन नगर निगम में करवाए. जिसको लेकर आगरा नगर निगम में हुई बोर्ड बैठक में रजिस्ट्रेशन को लेकर फीस निर्धारित की गई थी. आने वाले दिनों में रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिए जाएंगे. रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरह से किए जाएंगे. जो भी पॉलिसी है वह भी पारित की जाएंगी. नगर आयुक्त ने बताया कि रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा. हर विदेशी कुत्ते को पूरी वैक्सीन लगी होनी चाहिए. बाहर गंदगी करने से उन्हें रोका जाएगा.
यह रहेगी रजिस्ट्रेशन फीस
निगम की बोर्ड की बैठक के रजिस्ट्रेशन फीस निर्धारित की गई है. जिसमे अभी सिर्फ कुत्ता और बिल्ली की रजिस्ट्रेशन फीस तय की गई है. जल्द ही अन्य जानवरों की फीस तय की जायेगी. विदेशी नस्ल के कुत्तों और बिल्ली के लिए एक हजार और देसी नस्ल के कुत्तों और बिल्ली के लिए फीस 500 और 100 रुपए रखी गई है. देसी नस्ल के लिए दो केटेगरी में रखी गई है.
सरकार के आदेश का करेंगे पालन
बिल्ली पालने वाले मोहम्मद फरमान कहते है कि हमारे पास बिल्ली का एक जोड़ा है. जिसका नाम जीबिन और रूसी रखा है. बहुत समय से हम बिल्ली पालते आ रहें है. लेकिन नगर निगम के द्वारा एक और नया आदेश दिया गया है. अब रजिस्ट्रेशन कराना होगा. वहीं उसकी भी फीस जमा करानी होगी. सरकार का आदेश है, पालन करेगें. जैसे ही रजिस्ट्रेशन शुरू होंगे करवा लेंगे.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta