उत्तर प्रदेश

बलात्कार की कोशिश के बाद युवती ने की आत्महत्या, जांच में जुटे पुलिस

Kunti Dhruw
18 May 2022 8:21 AM GMT
बलात्कार की कोशिश के बाद युवती ने की आत्महत्या, जांच में जुटे पुलिस
x
बड़ी खबर

उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में एक युवती से रेप के प्रयास के बाद युवती ने आत्महत्या कर ली. अब युवती के घर में मातम पसरा है पीड़ित के परिजन आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. आरोप है कि थाना पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया, जिसके चलते युवती ने आत्महत्या कर ली. हालांकि पुलिस अधिकारी का कहना है कि आरोपी ने घर में घुसकर गाली-गलौच की थी और उसे जेल भेज दिया गया है. लेकिन गांव में अफवाह फैल गई की आरोपी को युवती ने ही बुलाया था, जिसके चलते उसने जहर खा लिया. पुलिस के अधिकारी मामले की जांच कर सख्त कार्रवाई की बात कह रहे हैं.दरअसल बागपत जिले के रमाला थाना क्षेत्र में 15 मई को एक गांव के घर में घुसकर युवकों ने युवती से दुष्कर्म का प्रयास किया था. शोर सुनकर ग्रामीणों व परिजनों ने एक आरोपी नसीम पुत्र रसीद को पकड़ लिया. उसके दो साथी वहां से फरार हो गए.

आरोप है कि जब पीड़ित युवती अपने परिजनों के साथ थाने पहुंची तो पुलिस ने मामूली धाराओं के तहत मामला दर्ज किया और आरोपी को छोड़ दिया. आरोपी को छोड़ दिए जाने की खबर मिलने के बाद युवती ने सोमवार 16 मई की शाम को जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या की कोशिश की. इलाज के दौरान युवती ने बुधवार सुबह दम तोड़ दिया.जहरीला पदार्थ खाने के बाद 12वीं में पढ़ने वाली युवती को आनन-फानन में निजी अस्पताल लेकर जाया गया. डॉक्टरों ने उसे मेरठ रेफर कर दिया, जहां युवती की हालत लगातार गंभीर बनी हुई थी और आखिरकार बुधवार सुबह उसकी मौत हो गई.

आरोप है कि रमाला थाना प्रभारी ने पीड़ित परिवार को धमकाकर अपना बयान बदलने का दबाव भी बनाया था. जब पीड़ित युवती नहीं मानी तो मामूली धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया.मृतका की बहन ने बताया कि हम जब मामले की रिपोर्ट लिखवाने के लिए थाने में गए थे तो उन्होंने किसी परिजन को अंदर नही आने दिया. उसने बताया कि सिर्फ मैं ओर मेरी मां ही अंदर थे. उन्होंने जो भी लिखवाया, हमने वो ही लिख दिया. पुलिसकर्मी कहने लगे कि कुछ और लिखोगे तो लड़की को डॉक्टरी के लिए लेकर जाना पड़ेगा. हमने उनसे कहा कि साहब हमने जो लिखा है उसकी चिट दे दो, तो कहने लगे कि सुबह लेकर जाना और सुबह पता लगा कि आरोपी को छोड़ भी दिया गया है. न्याय नही मिला तो हमारी बहन ने जहर खा लिया ओर अब वह मर गई.


मामूली धाराओं में मामला दर्ज होने के बाद जब आरोपी छूट गया तो युवती ने दहशत में जहरीला पदार्थ खा लिया. मृतक युवती के परिजन पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़े कर रहे हैं. युवती के परिजन रामकुमार कश्यप ने बताया कि तेली समाज के लोग अपने रिश्तेदार के घर आए हुए थे. पहले तो उन्होंने वहां भी गंदी हरकतें कीं और फिर वह रामकुमार के भाई के घर में घुस गए.

रामकुमार ने बताया कि एक लड़का घर में घुस गया और सो रही युवती के ऊपर लेट गया और उसके कपड़े फाड़कर बदतमीजी करने की कोशिश करने लगा. लड़की ने शोर मचाया तो पड़ोसियों ने वहां पहुंचकर आरोपी को पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया. लेकिन पुलिस ने बिना कोई कार्रवाई के उसे छोड़ दिया. उसी दिन शाम को दो सिपाई घर आए थे, लड़की ने परेशान होकर जहर खा लिया. आखिरकार उसने बुधवार सुबह मेरठ के सुभारती अस्पताल में दम तोजड दिया.

एक अन्य परिजन विकास कुमार ने बताया, 'उनके पडोस में करीब 10 घर मुस्लिम समाज के हैं. हमारा उनसे कोई खराब व्यवहार नहीं है, किसन भी तरह से उनके घर पर तीन आदमी शादी का कार्ड देने आए थे. दोपहर करीब 3-3.30 बजे इन लोगों ने उनके घर पर उत्पात मचाया तो उन्होंने इन लोगों को अपने घर से निकाल दिया. इसके बाद यह लोग हमारे भाई के घर में घुस गए. यहां घुसकर वह लड़की के कपड़े फाड़ने लगा, जब उसने शोर मचाया तो मां और बड़ी बहन वहां पहुंच गईं.'


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta