उत्तर प्रदेश

लखनऊ लुलु मॉल में नमाज अदा करने वालों पर FIR दर्ज, प्रबंधन बोला-नमाजी हमारे स्टाफ नहीं थे

Renuka Sahu
15 July 2022 1:57 AM GMT
FIR lodged against those who offered Namaz in Lucknow Lulu Mall, Management said – Namaji was not our staff
x

फाइल फोटो 

लखनऊ के लुलु मॉल में नमाज को लेकर विवाद बढ़ने के बाद गुरुवार की शाम सुशांत गोल्फ सिटी थाने में एफआईआर भी दर्ज हो गई।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। लखनऊ के लुलु मॉल में नमाज को लेकर विवाद बढ़ने के बाद गुरुवार की शाम सुशांत गोल्फ सिटी थाने में एफआईआर भी दर्ज हो गई। लुलु मॉल मैनेजमेंट की तरफ से ही पुलिस को तहरीर देते हुए दावा किया कि नमाज पढ़ते हुए वायरल वीडियो में दिख रहे लोगों से उनका कोई संबंध नहीं हैं। वह मॉल के कर्मचारी भी नहीं हैं।

कुछ दिन पहले ही लुलु मॉल का सीएम योगी के हाथों भव्य उद्घाटन किया गया था। इसी बीच मॉल में नमाज पढ़ने की वीडियो तेजी से वायरल हुआ। सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो में आधा दर्जन लोग मॉल के भीतर नमाज पढ़ते नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि बकरीद के दिन यह नमाज पढ़ी गई। उस दिन मॉल में चहलपहल भी कम होने की बात कही गई।
यह भी पढ़ेंः लुलु मॉल में मल्टी नहीं सुपरप्लेक्स
वीडियो वायरल होने पर हिंदू महासभा ने सबसे पहले मामले को उठाया। महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने कहा कि सार्वजनिक जगहों पर नमाज पढ़ने की मनाही है। इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि मॉल में एक खास धर्म के लोगों को ही नौकरी दी जा रही है। शिशिर चतुर्वेदी ने कहा कि अगर ऐसा हुआ तो मॉल में सुंदरकांड का पाठ किया जाएगा। इस बीच सोशल मीडिया पर इसे लेकर तकरार भी शुरू हो गई।
मॉल में नमाज पर सोशल मीडिया बंटा
विवाद बढ़ता देख मॉल प्रबंधन ने अपनी तरफ से थाने में तहरीर दी। मॉल प्रबंधन ने सफाई दी कि इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने ये भी कहा कि मॉल में किसी धार्मिक गतिविधि की अनुमति नहीं है। एडीसीपी दक्षिण राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि मॉल के पीआरओ सिब्तैन हुसैन की तरफ से दी गई तहरीर के आधार पर मुकदम दर्ज कर लिया गया है। कहा कि अज्ञात नमाजियों के खिलाफ कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta