उत्तर प्रदेश

आगरा दोहरा हत्याकांड का आरोपी फरार, गम और गुस्से में पीड़ित परिजन

Kunti Dhruw
18 Dec 2021 7:00 PM GMT
आगरा दोहरा हत्याकांड का आरोपी फरार, गम और गुस्से में पीड़ित परिजन
x
आगरा जनपद के थाना खेड़ा राठौर के चित्तरपुरा गांव में जमीन के विवाद में हुए.

आगरा जनपद के थाना खेड़ा राठौर के चित्तरपुरा गांव में जमीन के विवाद में हुए. दोहरे हत्याकांड के आरोपियों को पकड़ने के लिए एसएसपी ने चार टीमें गठित कर दी हैं। टीमों ने ताबड़तोड़ दबिश देकर आरोपियों के कई रिश्तेदारों को पूछताछ के लिए उठाया है, लेकिन 48 घंटे बाद भी आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर हैं जिससे गम में डूबे परिजन गुस्से में हैं। वो अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित भी हैं।

बृहस्पतिवार को आलू के खेत में लेजम बिछाने और मेड़ काटने के विवाद में कल्लू सिंह पक्ष ने रास्ते में घेरकर गोली मारकर चचेरे भाई महेश सिंह, दिनेश सिंह की हत्या कर दी थी। नामजद हत्यारोपियों की तलाश में सीओ बाह रविंद्र प्रताप सिंह के नेतृत्व में पुलिस की चार टीमों ने यूपी के अलावा राजस्थान में दबिश दी है। यहां से कई रिश्तेदारों को हिरासत में भी लिया गया है। लेकिन कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।
जिससे गमजदा परिवार के रामू, रिंकू, गोविंद आदि ने गुस्से का इजहार करते हुए कहा कि आरोपी पकडे़ नहीं गए हैं। परिवार के अन्य लोगों के लिए भी जान का खतरा पैदा हो गया है। आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग दोहराई। सीओ बाह रविंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। देररात तक गिरफ्तारी की उन्होंने उम्मीद जताई है।
बेटियां बोली- हत्यारोपियों को हो फांसी की सजा
मृतक महेश सिंह की बेटियां कामिनी, प्रियंका की आंखों से आंसू रुक नहीं रहे। शनिवार को फफकती प्रियंका और कामिनी को ढांढस बंधाने वाले भी अपने आंसू नहीं रोक पाए। दोनों बेटियां बोलीं- पिता को मारने वालों को फांसी की सजा होनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि पिता की मौत के इंसाफ के लिए वे हर स्तर पर लडे़गीं। वहीं दिनेश सिंह की बेटी आरती और बडे़ भाई की बेटी रुबी भी रो-रोकर बेहाल है। उन्होंने भी उनके परिवार खुशियां छीनने वालों को फांसी देने की मांग की है। महेश सिंह की पत्नी कलावती और दिनेश सिंह की पत्नी ममता की तीसरे दिन भी बेहोशी नहीं टूट सकी है।
पिता बोले- कब गिरफ्तार होंगे बेटों के हत्यारे
चित्तरपुरा में मृतक महेश सिंह के पिता कमल सिंह और दिनेश सिंह के पिता अतर सिंह के सीने में बेटों को खोने का दर्द छिपा है। हालांकि उन्होंने अपने आंसुओं को रोक लिया है। शनिवार को 48 घंटे बाद भी बेटों को मौत की नींद सुलाने वालों की गिरफ्तारी न होने पर उन्होंने पुलिस से सवाल किया कि अब तक बेटों को छीनने वाले पकडे़ क्यों नहीं गए। बूढे़ पिता अपने जीते जी बेटों के हत्यारोपियों को फांसी पर लटका हुआ देखना चाहते हैं। बोले तभी कलेजे को ठंडक पहुंचेगी। बेटों की आत्माओं को शांती मिलेगी।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta