त्रिपुरा

त्रिपुरा : वरिष्ठ नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल को त्रिपुरा भेजने का लिया निर्णय

Nidhi Singh
27 Jun 2022 10:50 AM GMT
त्रिपुरा : वरिष्ठ नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल को त्रिपुरा भेजने का लिया निर्णय
x

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी तथा संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने त्रिपुरा प्रदेश कार्यालय में हुए हमले की तीखी निंदा करते हुए इसके लिए भारतीय जनता पार्टी को जिम्मेदार ठहराया और दोषियों के खिलाफ तत्काल कारवाई करने की मांग की है।

कांग्रेस ने हमले के कारणों की जांच तथा स्थिति का जायजा लेने के लिए वरिष्ठ नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल को सोमवार को त्रिपुरा भेजने का निर्णय लिया है, जिसमें लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी, लोकसभा सदस्य गौरव गोगोई और डॉ नसीर हुसैन शामिल हैं। दल को घटना की रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है। पार्टी ने कहा, अगरतला उपचुनाव में कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार सुदीप रॉय बर्मन की प्रचंड जीत के बाद भाजपा के गुंडों द्वारा कांग्रेस भवन पर किए गए विवेक-शून्य आक्रमण और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बिरजीत सिन्हा और अन्य कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर क्रूर हमले की कांग्रेस कड़ी निंदा करती है।
पार्टी ने कहा कि बर्बर हमले के वक्त पुलिस मूकदर्शक बनी रही और भाजपा के गुंडों ने संपत्तियों की तोड़फोड़ कर कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारियों पर हिंसक हमले किए। पार्टी ने इसे शर्मनाक बताया और कहा कि भाजपा ने डंडों और लाठियों से लैस लोगों ने कार्यालय पर पथराव किया। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को हमले में गंभीर चोटें आई हैं और उन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कांग्रेस ने कहा, इस क्रूर कृत्य को कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार सुदीप रॉय बर्मन के प्रतिष्ठित अगरतला विधानसभा सीट के उपचुनाव में विजयी होने के बाद अंजाम दिया गया। इससे पूर्व भाजपा के गुंडों ने बर्मन पर बेरहमी से हमला किया जिससे उन्हें गंभीर चोटें आई हैं। हताश भाजपा जनता के इस फैसले को पचा नहीं पा रही है और अपने गुंडों को हमारे कार्यालयों और पदाधिकारियों पर हमला करने के लिए खुला छोड़ रही है। इस कृत्य के लिए हम भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से माफी मांगने और गृह मंत्री अमित शाह से हमले के कारणों की जांच कराने की मांग करते हैं।
इससे पहले गांधी ने ट्वीट कर कहा कि मैं अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं पर अगरतला उपचुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद भाजपा के गुंडों द्वारा किये गए इस हमले की कड़ी निंदा करता हूं। जनता हमारे साथ है। शर्म की बात यह है कि पुलिस इस घटना के दौरान हमलावरों को रोकने की बजाय मूकदर्शक बनी रही। भाजपा के इन गुडों खिलाफ सख्त कार्रवाई कर उन्हें सजा दी जानी चाहिए। वाड्रा ने कहा कि कांग्रेस के करोड़ों कार्यकर्ता व नेता त्रिपुरा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं व नेताओं के साथ चट्टान की तरह खड़े होकर भाजपा की हिंसा का सामना करेंगे। भाजपा चाहे जितना भी हिंसक हथकंडे अपनाए, लोकतंत्र के मैदान में इन हिंसक हथकंडों की हार निश्चित है।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta