तेलंगाना

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ऑनर किलिंग पर बोले- इस्लाम के अनुसार 'आपराधिक कृत्य', यह सबसे खराब अपराध

Renuka Sahu
7 May 2022 3:10 AM GMT
AIMIM chief Asaduddin Owaisi said on honor killing - according to Islam a criminal act, this is the worst crime
x

फाइल फोटो 

ऑल इंडिया मज्लिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कल शुक्रवार को तेलंगाना के सरूरनगर में हुई ऑनर किलिंग की घटना की निंदा की और इसे संविधान और इस्लाम के अनुसार “आपराधिक कृत्य” करार दिया.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। ऑल इंडिया मज्लिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने कल शुक्रवार को तेलंगाना के सरूरनगर में हुई ऑनर किलिंग (honour killing) की घटना की निंदा की और इसे संविधान और इस्लाम के अनुसार "आपराधिक कृत्य" करार दिया. वहीं हत्याकांड मामले में गिरफ्तार दो आरोपियों को शुक्रवार को न्यायिक हिरासत (judicial custody) में भेज दिया गया जबकि तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन ने इस सनसनीखेज मामले में राज्य सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.

हैदराबाद में जनसभा को संबोधित करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, "हम सरूरनगर में हुई (ऑनर किलिंग) घटना की निंदा करते हैं. महिला ने स्वेच्छा से शादी करने का फैसला किया. उसके भाई को उसके पति को मारने का कोई अधिकार नहीं है. यह संविधान के अनुसार एक आपराधिक कृत्य है और इस्लाम के अनुसार सबसे खराब अपराध है."
हम हत्यारों के साथ नहीं खड़ेः ओवैसी
उन्होंने हत्याकांड को लेकर हो रही तीखी प्रतिक्रियाओं पर कहा, "इस घटना को कल से एक और रंग दिया जा रहा है. क्या यहां की पुलिस ने आरोपी को तुरंत गिरफ्तार नहीं किया? उन्होंने उसे गिरफ्तार कर लिया है. हम हत्यारों के साथ नहीं खड़े हैं."
उन्होंने जहांगीरपुरी और खरगोन में सांप्रदायिक हिंसा की घटनाओं के बारे में बात करते हुए कहा, "मैं कहना चाहता हूं कि जो भी धार्मिक जुलूस निकाला जाता है, मस्जिद पर हाई रेजोल्यूशन सीसीटीवी लगाया जाना चाहिए और जब भी कोई जुलूस निकलता है, तो वह होना चाहिए. फेसबुक पर लाइव टेलिकास्ट हो ताकि दुनिया को पता चले कि पत्थर कौन फेंक रहा है."
हत्याकांड मामले में 2 आरोपी गिरफ्तार
इससे पहले गुरुवार को हैदराबाद की सरूरनगर पुलिस ने आशरीन सुल्ताना उर्फ ​​पल्लवी के दो रिश्तेदारों को दलित युवक बिलिपुरम नागराजू की हत्या में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया था. आरोपियों की पहचान आशरीन सुल्ताना के भाई सैयद मोबिन अहमद और मोहम्मद मसूद अहमद के रूप में हुई है.
पुलिस ने बताया कि एक स्थानीय अदालत ने गुरुवार को दोनों आरोपियों सैयद मोबिन अहमद और मोहम्मद मसूद अहमद को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. उन्होंने कहा कि उपलब्ध साक्ष्यों के अनुसार केवल गिरफ्तार आरोपी ही हत्या में शामिल पाए गए.
हत्याकांड के बाद के एक्शन पर सरूरनगर पुलिस ने कहा था कि दोनों आरोपियों को गुरुवार को ही गिरफ्तार कर लिया गया और न्यायिक हिरासत के लिए माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है. एलबी नगर के डीसीपी ने कहा, "आईपीसी की धारा 302, एससी/एसटी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है. जांच जल्द ही पूरी की जानी है. हम फास्ट ट्रैक कोर्ट में आवेदन करेंगे ताकि इसका ट्रायल जल्द पूरा हो और आरोपियों को सजा मिले. मृतक के परिवार को मौद्रिक लाभ, नौकरी प्रदान की जाएगी."
मृतक का अंतिम संस्कार
इस बीच मृतक की पत्नी ने अफसोस जताया कि उसके पति की जान बचाने के लिए कोई आगे नहीं आया जबकि बुधवार रात सरूरनगर में नृशंस हत्या के समय भीड़ जमा हो गई थी. महिला ने लोकल चैनलों से कहा कि जो लोग मौके पर जमा हुए थे, वे सामूहिक रूप से हमलावरों को भगाने की कोशिश कर सकते थे.
पुलिस ने कहा कि पीड़ित का अंतिम संस्कार गुरुवार को पड़ोसी विकाराबाद जिले में उनके पैतृक गांव में किया गया और महिला अपने ससुराल में है. उन्होंने कहा कि मृतक के साथ एकजुटता प्रदर्शित करते हुए कुछ सामुदायिक संगठनों ने भी अंतिम संस्कार में भाग लिया.
राज्यपाल ने हत्याकांड पर मांगी रिपोर्ट
दूसरी ओर, राजभवन द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार राज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन ने जीएचएमसी इलाके के सरूरनगर में चार मई 2022 की रात बी. नागराजू की नृशंस हत्या के संबंध में विभिन्न मीडिया रिपोर्टों को देखा. कथित तौर पर अंतरधार्मिक विवाह के कारण हुई इस हत्या के संबंध में राज्यपाल ने सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने भी इस मामले में हैदराबाद पुलिस से कार्रवाई रिपोर्ट मांगी है.
इससे पहले पुलिस ने बताया था कि यह घटना बुधवार रात सरूरनगर में हुई जब पीड़ित दलित व्यक्ति नागराजू अपनी पत्नी के साथ मोटरसाइकिल पर जा रहा था. पुलिस ने बताया कि स्कूटर पर आए हमलावरों सैयद मोबिन अहमद और मोहम्मद मसूद अहमद ने उन दोनों को सड़क पर रोका और नागराजू पर पहले लोहे की छड़ से और उसके बाद चाकू से वार किया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta