राजस्थान

ट्रैक्टर चालक ने बाइक सवार दो सगे भाइयों को मारी टक्कर, हुई दर्दनाक मौत, लेकिन पूरा मामला है कुछ ऐसा...

Admin1
13 Nov 2021 10:59 AM GMT
ट्रैक्टर चालक ने बाइक सवार दो सगे भाइयों को मारी टक्कर, हुई दर्दनाक मौत, लेकिन पूरा मामला है कुछ ऐसा...
x
बजरी माफिया बेलगाम हो गए हैं

धौलपुर: राजस्थान में बजरी खनन पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा रोक हटाने के बाद बजरी माफिया बेलगाम हो गए हैं. रोक हटने के बाद धौलपुर जिले में बजरी खाली कर लौट रहे ट्रैक्टर ट्रॉली चालक ने तेज रफ्तार में स्कूल जा रहे बाइक सवार दो सगे भाइयों को सामने से टक्कर मार दी. दुर्घटना में दोनों भाइयों की दर्दनाक मौत हो गई.

मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने तीन बजरी माफियाओ और ट्रैक्टर को पकड़ लिया. तीन बजरी माफियाओ की आक्रोशित ग्रामीणों ने जम कर मारपीट कर दी. घटनास्थल पर स्थानीय लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई. मामले की सूचना पाकर भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया. आक्रोशित ग्रामीणों ने शव सड़क पर रखकर बसईनबाव-मनियां सड़क मार्ग पर जाम लगा दिया.
जानकारी के मुताबिक, गुरुवार को महानंदा का पुरा गांव निवासी 17 वर्षीय रामलखन पुत्र विद्याराम अपने छोटे भाई सौरभ उर्फ सूरज को रमगढ़ा के सरकारी स्कूल में छोड़ने बाइक से जा रहा था लेकिन सामने से तेज रफ्तार में बजरी खाली कर लौट रहे ट्रैक्टर ट्रॉली चालक ने दोनों बाइक सवार छात्रों को टक्कर मार दी. दुर्घटना में रामलखन की मौके पर ही मौत हो गई जबकि सूरज गंभीर रूप से घायल हो गया.
हादसे को देखकर स्थानीय ग्रामीण मौके पर पहुंच गए जिन्होंने तीन बजरी माफियाओं को ट्रैक्टर सह‍ित पकड़ लिया. ग्रामीणों ने तीन बजरी माफियाओं की मौके पर ही जमकर मारपीट कर दी. छोटे भाई को उपचार के लिए धौलपुर ले जा रहे थे लेकिन रास्ते में उसकी भी मौत हो गई.
ग्रामीणों ने दोनों मृतक के शव बसईनबाव-मनिया सड़क मार्ग पर रखकर जाम लगा दिया था. पुलिस एवं प्रशासन के खिलाफ भारी आक्रोश व्यक्त किया. मामले की सूचना पाकर कौलारी थाना पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई लेकिन पुलिस को स्थानीय लोगों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा. हालात बिगड़ते देख एडिशनल एसपी बच्चन सिंह मीणा के साथ अन्य थानों की पुलिस के साथ पुलिस लाइन से अतिरिक्त बल मौके पर बुलाया गया. पुलिस घायल तीन बजरी माफियाओं को ले जाने लगी तो ग्रामीणों ने इसका विरोध किया. तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस प्रशासन ने ग्रामीणों से समझाइश कर जाम को खुलवाया और कार्रवाई शुरू की.
रामलखन एवं उसके छोटे भाई सूरज की दुर्घटना में मौत हो जाने से गांव में सन्नाटा पसर गया है. परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल बना हुआ है.
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बच्चन सिंह मीणा ने बताया कि ट्रैक्टर और बाइक का एक्सीडेंट हो गया और दो बच्चे मौके पर ख़त्म हो गए. घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने जाम लगा दिया और समझाइश के बाद जाम खुलवा दिया. घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया.
बता दें क‍ि जिले में चंबल बजरी के गोरखधंधा शुरू से ही चरम पर था लेकिन 11 नवम्बर को सुप्रीम कोर्ट ने राजस्थान में बजरी खनन पर रोक हटने के बाद बजरी माफिया बेलगाम हो गए हैं. जिले में यह हादसा कोई पहली मर्तबा नहीं हुआ है. इससे पूर्व दर्जनों लोग बजरी माफियाओं के कहर का शिकार हो चुके हैं. हाईवे हो या सड़क मार्ग अथवा लिंक रोड सभी जगह बजरी माफिया की गाड़‍ियां फर्राटे से दौड़ लगा रही हैं.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it