राजस्थान

पेपर लीक मामले में खुलासे, आरोपियों ने बताया 40 लाख में खरीदकर करोड़ों रुपयों का हुआ फायदा

Admin1
12 Oct 2021 7:52 AM GMT
पेपर लीक मामले में खुलासे, आरोपियों ने बताया 40 लाख में खरीदकर करोड़ों रुपयों का हुआ फायदा
x

जयपुर: राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) पेपर कथित धांधली के मामले में मास्टरमाइंड बत्तीलाल के गिरफ्तार होने के बाद कई खुलासे शुरू हो गए हैं। पुलिस ने बत्तीलाल के तीन साथियों को गिरफ्तार करने में भी सफलता हासिल की हैं, जिनसे कई राज निकल रहे हैं।

जानकारी के अनुसार, रीट पेपर लीक के तार अब पहले भी पेपर लीक करने के कारण चर्चाओं में रही विश्नोई गैंग से भी जुड़ते दिख रहे हैं। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एटीएस एवं एसओजी अशोक राठौड़ एसओजी और पुलिस ने मामले में अलीगढ़ टोंक में जेईएन पृथ्वीराज मीणा और उसके दो साथी रवि बागड़ी और रवि जीनापुर को आगरा से गिरफ्तार किया है। ये मास्टरमाइंड बत्तीलाल के ही साथी है। इससे पहले केदारनाथ से शिवा चकेरी को बत्तीलाल के साथ दस्तयाब किया था, जिन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है।
सवाईमाधोपुर पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पूछताछ में पृथ्वीराज ने बताया कि उसने रीट का पेपर 40 लाख रुपए में खरीदा था, जिनसे पेपर खरीदा था वे लोग विश्नोई गैंग से जुड़े हुए थे। पृथ्वीराज ने बताया कि उसे पेपर और उसकी आंसर शीट नेटबंदी से पहले ही 26 सितम्बर को सुबह मिल गई थी। इसके तुरंत बाद सवाई माधोपुर के निजी स्कूल में 8 से 12 लाख रुपए तक में 18 अन्य अभ्यर्थियों को परीक्षा से पहले ही पेपर और आंसर शीट दी थी। इस तरह कुल मिलाकर 40 लाख में खरीदे पेपर को करीब 2 करोड़ रुपये में अन्य लोगों तक पहुंचा दिया गया।
पुलिस ने मामले में अब तक कुल 19 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। अब इन सभी को कोर्ट में पेश किया जाएगा। सवाई माधोपुर पुलिस ने बत्तीलाल और पृथ्वीराज से मिले सबूतों के बाद अन्य लोगों को भी रडार पर ले रखा है जिनकी तलाश की जा रही है।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it