राजस्थान

अब इंजीनियरिंग और मेडिकल की पढ़ाई कर सकते हैं डिजिटल लाइब्रेरी से

Gulabi
8 Nov 2021 10:36 AM GMT
अब इंजीनियरिंग और मेडिकल की पढ़ाई कर सकते हैं डिजिटल लाइब्रेरी से
x
इंजीनियरिंग और मेडिकल की पढ़ाई कर सकते हैं डिजिटल लाइब्रेरी से

जयपुर. मेडिकल और इंजिनियरिंग स्टूडेंट्स (Medical and engineering students) के लिए अब महंगी किताबें पढ़ाई में बाधक नहीं होगी. राज्य सरकार की ओर से जल्द ही डिजिटल लाइब्रेरी (Digital Librari) का लोकार्पण किया जाएगा. इससे विद्यार्थी घर बैठे-बैठे अपनी पढ़ाई कर सकेंगे. सरकार ने कोरोना काल में इस चुनौती को अवसर में बदला है. राज्य के जनजातीय क्षेत्र के विद्यार्थियों के लिए सीएम अशोक गहलोत ने इंजीनियरिंग कॉलेज बांसवाड़ा में ऑनलाइन डिजिटल लाइब्रेरी की घोषणा की थी.

उस घोषणा पर अमल करते हुए राज्य के तकनीकी शिक्षा विभाग ने सरकारी महाविद्यालय बांसवाड़ा में इसे तैयार कर लिया है. इस डिजिटल लाइब्रेरी को डीओआईटी के जरिये राजीव गांधी डिजिटल लाइब्रेरी के नाम से शुरू किया जा रहा है. इसका अभी परीक्षण चल रहा है. टेस्टिंग पूरी होने के बाद सीएम अशोक गहलोत इसका लोकार्पण करेंगे.
सामान्य शिक्षा के महाविद्यालयों को भी जोड़ा जायेगा
तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉक्टर सुभाष गर्ग का कहना है कि करोड़ों की लागत से बांसवाड़ा में यह लाइब्रेरी तैयार कर ली गई है. क्लाउड के माध्यम से सभी इंजिनयिनिंग कॉलेज इसमें जुड़े सकेंगे. उनका कहना है कि इस लाइब्रेरी से ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों को बहुत लाभ मिलेगा. पहले इसे केवल इंजीनियरिंग कॉलेजों तक ही सीमित किया जा रहा था. लेकिन बाद में सामान्य शिक्षा के महाविद्यालयों को भी इससे जोड़ने की योजना बना ली गई है.
प्रोजेक्ट पर जोर-शोर से कार्य किया जा रहा है
अब प्रदेश के उच्च शिक्षा के सभी कॉलेजों को भी इस लाइब्रेरी से जोड़ने की प्लानिंग कर दी गई है. तकनीकी शिक्षा विभाग की ओर से दावा किया जा रहा है कि इसे एक बड़ा प्लेटफार्म बनाया जाएगा. यहां स्कूल से लेकर कॉलेज तक की पढ़ाई को लाइब्रेरी के रूप में तैयार किया जा रहा है. फिलहाल इस प्रोजेक्ट पर जोर-शोर से कार्य किया जा रहा है.
कहीं भी बैठकर स्टूडेंट्स अपनी पढ़ाई कर सकेंगे
विद्यार्थियों की सहायता के लिए यह ऑनलाइन लाइब्रेरी खासी मददगार साबित होगी. इसके जरिए कहीं भी बैठकर स्टूडेंट्स अपनी पढ़ाई कर सकेंगे. ना सिर्फ कोर्सेज से जुड़ी हुई पुस्तकें बल्कि दुनिया में नित नये हो रहे शोध से भी अपडेट रह सकेंगे. सरकार की कोशिश है कि प्राइमरी से लेकर उच्च शिक्षा और प्रोफेशनल कोर्सेज के विद्यार्थियों तक इस डिजिटल लाइब्रेरी को सहज रूप में उपलबध कराया जा सके.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it