राजस्थान

न कोई फोन आया न कोई मैसेज, फिर भी खाते से निकाल लिए लाखों रुपए

Sonali
16 Nov 2021 7:24 AM GMT
न कोई फोन आया न कोई मैसेज, फिर भी खाते से निकाल लिए लाखों रुपए
x
राजधानी के विद्याधर नगर थाना इलाके में साइबर ठगों ने एक व्यक्ति के क्रेडिट कार्ड (Credit Card) के जरिए 2.40 लाख रुपए का ट्रांजेक्शन कर लिया. इस संबंध में विद्याधर नगर निवासी 52 वर्षीय राजीव बियानी ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है.

जनता से रिश्ता। राजधानी के विद्याधर नगर थाना इलाके में साइबर ठगों ने एक व्यक्ति के क्रेडिट कार्ड (Credit Card) के जरिए 2.40 लाख रुपए का ट्रांजेक्शन कर लिया. इस संबंध में विद्याधर नगर निवासी 52 वर्षीय राजीव बियानी ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है. शिकायत में इस बात का जिक्र किया गया है कि पीड़ित का कोटक बैंक का क्रेडिट कार्ड (Credit Card) उसके पास मौजूद है, उसके बावजूद भी उसी कार्ड का प्रयोग करते हुए साइबर ठगों ने तीन ट्रांजेक्शन करते हुए 2.40 लाख रुपए की ठगी की है.

ताज्जुब की बात यह है कि पीड़ित के पास न किसी तरह का कोई फोन कॉल आया और न ही किसी तरह का मैसेज. इसके बाद भी साइबर ठगों ने पीड़ित के क्रेडिट कार्ड से लाखों रुपए का ट्रांजेक्शन कर लिया. फिलहाल पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर ट्रांजेक्शन डिटेल के आधार पर जांच करना शुरू किया है. प्रथम दृष्टया कार्ड क्लोनिंग के जरिए ठगी की वारदात को अंजाम देने की आशंका जताई जा रही है.
यहां तिगुना धन प्राप्त करने के लालच में गंवाए 1 करोड़ रुपए
राजधानी के विद्याधर नगर थाना इलाके में ठगों ने एक व्यक्ति को एक फर्म में राशि निवेश कर तिगुना मुनाफा कमा कर देने का झांसा देकर एक करोड़ रुपए ठग लिया. इस संबंध में व्यापारी राकेश बडगोती ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है.
शिकायत में इस बात का जिक्र किया गया है कि कुकरखेड़ा अनाज मंडी स्थित मैसर्स कुंज बिहारी एंड कंपनी के कुंज बिहारी कूलवाल और गोविंद कूलवाल ने पीड़ित को इंडिया कमर्शियल सर्विसेज नामक फर्म में राशि निवेश कर तिगुना मुनाफा कमा कर देने का लालच दिया. साथ ही पार्टनर बनाने का लालच भी दिया गया.
ठगों के झांसे में आकर पीड़ित ने एक करोड़ रुपए की राशि निवेश के लिए दे दी. उसके बाद ठगों ने पीड़ित से ली गई राशि फर्म में इन्वेस्ट करने के बजाए अपने निजी कार्यों में खपा दी. इस बात का पता चलने पर जब पीड़ित ने अपनी राशि वापस मांगी तो ठगों ने उसे राशि वापस लौटाने से मना कर दिया. जिसके बाद पीड़ित ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई और पुलिस ने आईपीसी की धारा 420, 406 और 384 के तहत प्रकरण दर्ज कर जांच करना शुरू कर दिया है.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it