राजस्थान

बीजेपी की महिला सांसद के घर पर बदमाशों ने किया हमला, तीन राउंड फायरिंग भी

Admin1
10 Nov 2021 3:17 AM GMT
बीजेपी की महिला सांसद के घर पर बदमाशों ने किया हमला, तीन राउंड फायरिंग भी
x
हमलावरों ने सांसद घर के बाहर उनकी फोटो चिपकाकर उस पर क्रास का निशान लगा दिया.

भरतपुर. बीजेपी की भरतपुर सांसद रंजीता कोली (MP Ranjeeta Koli) पर एक बार फिर से बदमाशों ने हमला किया है. हमलावरों ने सांसद रंजीता कोली के घर के बाहर तीन राउंड फायर किये हैं. हमले (Attack) की इस घटना के बाद एमपी रंजीता कोली तबीयत बिगड़ गई. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हमलावरों ने सांसद घर के बाहर उनकी फोटो चिपकाकर उस पर क्रास का निशान लगा दिया. इसके साथ ही उनको जान से मारने की धमकी देने वाला पोस्टर भी चस्पा किया है. हमले के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को तीन खाली कारतूस मिले हैं. हमलावरों का अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया है.

पुलिस के अनुसार सांसद रंजीता कोली पर हमले की वारदात मंगलवार रात करीब 11.45 बजे बयाना स्थित उनके आवास पर हुई. यहां हमलावरों ने उनके घर पर तीन राउंड फायर किये. उसके बाद उनके गेट के बाहर उनकी फोटो लगाकर उस पर क्रॉस का निशान लगा दिया. इस फोटो के साथ ही हमलावरों ने सांसद को जान से मार देने की धमकी का खत भी चस्पा कर दिया. हमले की घटना के कारण रंजीता कोली की तबीयत खराब हो गई. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहां उनका इलाज चल रहा है.
रंजीता कोली के घर पर चिपकाये गये धमकी वाले पत्र में हमलावरों ने अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुये लिखा है कि यह तो केवल ट्रेलर है. अगली बार गोली अंदर होगी. हमलावरों ने सांसद को साफ चेतावनी दी है कि बचने के लिये जितना जोर लगाना है लगा लें. कोई बचाने नहीं आयेगा. हमले की इस घटना के बाद बयाना कस्बे में हड़कंप मच गया.
रंजीता कोली पहली बार भरतपुर की सांसद बनी हैं. उनका ताल्लुक भरतपुर के राजनीतिक परिवार से है. रंजीता के ससुर गंगाराम कोली दो बार भरतपुर के सांसद रह चुके हैं. रंजीता पर करीब पांच महीने पहले भी जानलेवा हमला हुआ था. उस समय सांसद अस्पतालों का निरीक्षण करके लौट रही थी. उस दौरान उन पर हमला किया गया था. मंगलवार को भी वे भरतपुर से जनसुनवाई कर अपने घर बयाना वापस लौटी थी.
पुलिस ने मौका मुआयना कर वहां से कारतूसों के खाली खोल जब्त किये हैं. वह सीसीटीवी कैमरे के फुटेज खंगाल रही है. फिलहाल आरोपियों का कोई सुराग नहीं लग पाया है. सासंद पर छह माह में दो बार हुये हमले से पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठ रहे हैं. पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपियों का सुराग लगा लिया जायेगा.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it