राजस्थान

जयपुर : राजस्थान के इतिहास की सबसे बड़ी नीलामी हाउसिंग बोर्ड ने मानसरोवर में वीटी रोड पर 488 करोड़ रुपये का एक प्लॉट बेचा

Bhumika Sahu
14 July 2022 8:51 AM GMT
जयपुर : राजस्थान के इतिहास की सबसे बड़ी नीलामी हाउसिंग बोर्ड ने मानसरोवर में वीटी रोड पर 488 करोड़ रुपये का एक प्लॉट बेचा
x
इतिहास की सबसे बड़ी नीलामी हाउसिंग बोर्ड

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। जयपुर, कोरोना काल के बाद रियल एस्टेट सेक्टर के कारोबार में गिरावट देखने को मिली है। शहरों में कमर्शियल स्पेस, मॉल, कॉम्प्लेक्स भले ही खाली हो गए हों, लेकिन अब बड़ी कंपनियां जयपुर में निवेश करने में दिलचस्पी दिखा रही हैं। उनकी बानगी बुधवार को राजस्थान हाउसिंग बोर्ड की एक बड़ी नीलामी में देखने को मिली. इस नीलामी को राजस्थान के इतिहास की सबसे बड़ी नीलामी भी माना जा रहा है। क्योंकि किसी भी सरकारी एजेंसी ने इतनी बड़ी रकम में एक भी प्लॉट की नीलामी नहीं की है।

बोर्ड ने बुधवार को जयपुर के मानसरोवर में वीटी रोड पर पड़ी खाली जमीन पर बने सिटी पार्क से सटे करीब 45 हजार 632 वर्ग मीटर की नीलामी की. इस विशाल प्लॉट को पैसिफिक मॉल नाम की कंपनी ने 1 लाख 7 हजार प्रति वर्ग मीटर की सबसे ऊंची बोली लगाकर खरीदा है। इस प्लॉट की बिक्री से बोर्ड को करीब 4 अरब 88 करोड़ 26 लाख 24 हजार रुपये की आय होगी। मुखबिरों के मुताबिक राजस्थान में अब तक इतनी बड़ी रकम का एक भी प्लॉट कहीं बेचा नहीं गया है।
दो कंपनियों के बीच बोली
हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोडा ने कहा कि मानसरोवर के वी.टी. सड़क और अरावली सड़क के बीच की जमीन को नीलामी के लिए रखा गया था। इस जमीन के लिए शुरुआती बोली 89,500 रुपये प्रति वर्ग मीटर से शुरू की गई थी। नीलामी के दौरान दो कंपनियों पैसिफिक मॉल और फीनिक्स मॉल ने लंबी बोली लगाई और अंत में पैसिफिक मॉल ने सबसे ज्यादा प्रति वर्ग मीटर रुपये की बोली लगाई। इस प्लॉट को 1 लाख 7 हजार की बोली लगाकर खरीदा गया था। उन्होंने कहा कि इन दोनों कंपनियों के मुंबई, दिल्ली, लखनऊ, गाजियाबाद समेत कई शहरों में पहले से ही कई मॉल चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि नीलामी की गई जमीन पर मॉल और मल्टीप्लेक्स बनाने की अनुमति दी जा सकती है।
2012 में टूटा था जेडीए का रिकॉर्ड
जयपुर जेडीए ने वर्ष 2012 में जयपुर के 22 गोदामों में 15 हजार 208 वर्ग मीटर प्लॉट बेचकर नया रिकॉर्ड बनाया था, लेकिन आज 10 साल बाद यह रिकॉर्ड टूट गया है। उस समय यह नीलामी राजस्थान के इतिहास की सबसे बड़ी नीलामी थी। उस समय जेडीए भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड। (बीपीसीएल) ने तेल डिपो के लिए पट्टे पर दी गई भूमि पर कब्जा कर लिया और उसे नीलाम कर दिया। 15 हजार 208 वर्ग मीटर के इस भूखंड के लिए जेडीए ने उस समय न्यूनतम बोली 75 हजार रुपये से शुरू की थी. तब कोलकाता की स्टार कोमोसेट कंपनी और गंगानगर के कुछ व्यापारियों ने मिलकर 1 लाख 54 हजार 950 रुपये की बोली लगाकर जमीन खरीदी, जिससे जेडीए को 235 करोड़ रुपये की आमदनी हुई।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta