राजस्थान

केकड़ी में खेली जाती है अंगारों की होली, खतरनाक परंपरा को रोकने के लिए पुलिस ने कसी कमर

Sonali
5 Nov 2021 12:23 PM GMT
केकड़ी में खेली जाती है अंगारों की होली, खतरनाक परंपरा को रोकने के लिए पुलिस ने कसी कमर
x
गोवर्धन पूजा के अवसर पर केकड़ी में अंगारों की होली खेलने की परंपरा है. इस खतरनाक परंपरा में असमाजिक तत्व एक दूसरे पर पटाखे फेंकते हैं. ऐसे में एक बार फिर क्षेत्र में लोगों पर खतरनाक पटाखे फेंक रहे हैं.

जनता से रिश्ता। गोवर्धन पूजा के अवसर पर केकड़ी में अंगारों की होली खेलने की परंपरा है. इस खतरनाक परंपरा में असमाजिक तत्व एक दूसरे पर पटाखे फेंकते हैं. ऐसे में एक बार फिर क्षेत्र में लोगों पर खतरनाक पटाखे फेंक रहे हैं. वहीं असामाजिक तत्वों ने सदर बाजार में गणेश प्याऊ के पास स्थित घांस भैरू की सवारी को दिन में ही निकालने का प्रयास भी किया. जिसके बाद थाना अधिकारी सुधीर कुमार उपाध्याय मौके पर पहुंचे. जिसके बाद पुलिस के आने पर असामाजिक तत्व घांस भैरू की सवारी को सड़क पर ही छोड़कर भाग गए. इसके बाद बाजार और अन्य इलाकों में पुलिस का जाब्ता तैनात कर दिया है.

बता दें कि केकड़ी में इस बार घांस भैरू की सवारी पर कोरोना गाइडलाइन के चलते रोक लगाई गई है. घांस भैरू की सवारी की आड़ में असामाजिक तत्व एक-दूसरे पर खतरनाक पटाखे फेंकते हैं. जिससे दर्जनों लोग झुलस जाते हैं. इस बदरंग परंपरा को रोकने के लिए पुलिस प्रशासन ने कमर कस ली है.
अंगारों की होली को रोकने के लिए अजमेर से भी इस बार पुलिस का अतिरिक्त जाब्ता पहुंचा है लेकिन अब सवाल उठता है कि खतरनाक पटाखों पर रोक के बावजूद बाजार में खतरनाक पटाखे आ गए. दूसरी ओर एडिशनल एसपी घनश्याम शर्मा, पुलिस उपाधीक्षक खींव सिंह, थाना अधिकारी सुधील कुमार उपाध्याय मय पुलिस के जाब्ते के बाजार इलाके में मोर्चा संभाला है.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it