राजस्थान

किसानों को बिजली सब्सिडी योजना का नहीं मिला फायदा, जानिए कारण

Admin Delhi 1
26 Sep 2022 7:57 AM GMT
किसानों को बिजली सब्सिडी योजना का नहीं मिला फायदा, जानिए कारण
x

डूंगरपुर न्यूज़: बिजली बिल का भुगतान नहीं करने वाले किसानों को सब्सिडी योजना का लाभ नहीं मिल रहा है. जिले में ढाई हजार से अधिक ऐसे किराएदार हैं, जो पुरानी गलतियों के कारण योजना के लाभ से वंचित हो रहे हैं। हालांकि, उन किराएदारों को जागरूक करने के साथ ही बिजली निगम लाभ दिलाने की पहल कर रहा है. 1 मई, 2021 को राज्य सरकार ने कृषि कनेक्शन में सब्सिडी की योजना को फिर से शुरू किया और इसका नाम मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना रखा। योजना के तहत सरकार द्वारा कृषि कनेक्शन के बिजली बिल में किसी भी वर्ग के किसान को एक हजार रुपये की सब्सिडी देने का प्रावधान किया गया है, लेकिन सरकार ने इस योजना में एक शर्त रखी थी कि किसानों को अपनी जमा राशि जमा करनी होगी. पुराने बकाया बिल . बिल बकाया होने की स्थिति में उन्हें मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

डूंगरपुर जिले में 37 हजार 604 कृषि कनेक्शन हैं। इसमें से 34 हजार 812 किसान मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना की सब्सिडी का लाभ उठा रहे हैं। इसमें से 28 हजार 115 किसानों का बिल जीरो पर आ रहा है। बिजली विभाग ने अब तक इन किसानों को 11 करोड़ 14 लाख की सब्सिडी दी है, जबकि 2 हजार 792 किसानों के पुराने बिलों के कारण किसानों को उनके कृषि कनेक्शन पर योजना के तहत सब्सिडी का लाभ नहीं मिल रहा है. डूंगरपुर विद्युत विभाग के अधिशासी अभियंता चेतनलाल रोट ने बताया कि योजना के लाभ से वंचित 2 हजार 792 किसानों का करीब 20 लाख रुपये बकाया है. इसमें कई किसानों का 30 से 2 हजार रुपये तक बकाया है।

अधिशासी अभियंता चेतनलाल रोत ने कहा कि अब उन किसानों से घर-घर जाकर संपर्क किया जाएगा जिनका कृषि कनेक्शन का पुराना बकाया है. इसके लिए सभी अनुमंडलों में जेईएन व सुपरवाइजर की जिम्मेदारी तय की गई है. इसमें सबसे पहले 30 से 999 रुपये तक के बकाया किसानों को प्रोत्साहित कर पुराने बिल जमा कराये जायेंगे. वहीं, इसके बाद जिन किसानों के एक हजार से अधिक बकाया बिल हैं, उनसे संपर्क कर जागरूक किया जाएगा. किसान मित्र ऊर्जा योजना का लाभ मिलेगा।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta