राजस्थान

Reet टॉपर सुरभि को टॉप करने की खुशी में उनकी मम्मी मिठाई खिलाते हुए, पिता को मेडिकल नहीं पसंद...

Nidhi Singh
3 Nov 2021 3:46 AM GMT
Reet टॉपर सुरभि को टॉप करने की खुशी में उनकी मम्मी मिठाई खिलाते हुए, पिता को मेडिकल नहीं पसंद...
x
सुरभि के पिता डॉ. पवन कुमार एक डॉक्टर हैं. वो आयुर्वेद के डॉक्टर हैं. सुरभि के पिता का कहना है कि उनकी बेटी के पास बारहवीं क्लास में विज्ञान था.

राजस्थान की शिक्षक पात्रता परीक्षा REET का रिजल्ट आ गया है. इस परीक्षा में लेवल 2 में बीकानेर (Rajasthan, Bikaner) की कांता खतूरिया कॉलोनी के पास रहने वाली सुरभि पारीक (Surbhi Pareek) ने टॉप किया है. सुरक्षि ने इस परीक्षा में 146 नबंर हासिल किए हैं. सुरभि का कहना है कि इस परीक्षा के लिए उन्होंने काफी मेहनत की थी. उन्होंने परीक्षा के लिए छठी से आठवीं तक की विज्ञान की किताबों को खूब पढ़ा. किताब का हर सवाल किया ताकि वो याद रह सके. साथ ही सभी पुराने पेपरों से रोज अभ्यास किया.

सुरभि ने कहा कि जब हमें छठी से आठवीं तक की क्लास पढ़ाने के लिए ही परीक्षा देनी है तो उसी कक्षा की पुस्तकों पर फोकस करना था. उन्होने कहा कि मैंने इन तीनों कक्षाओं के सिलेबस की किताबों को खूब पढ़ा. छोटी से छोटी बात को समझा. किताब में दिए गए प्रश्नों को ही हल किया. उन्होंने बताया कि कुछ सवाल तो ऐसे थे जो किताब से ऐसे के ऐसे ही आ गए थे.
मेडिकल नहीं करना था सुरभि को
सुरभि के पिता डॉ. पवन कुमार एक डॉक्टर हैं. वो आयुर्वेद के डॉक्टर हैं. सुरभि के पिता का कहना है कि उनकी बेटी के पास बारहवीं क्लास में विज्ञान था. लेकिन इसके बावजूद उसने कभी मेडिकल में जाने की इच्छा नहीं जताई.
कोई भी परीक्षा दें तो डेडीकेशन के साथ दें
सुरभि का मानना है कि अगर आप कोई भी परीक्षा दे रहे हैं तो उसे पूरे डेडीकेशन के साथ दें है. आपको उस परीक्षा के मर्म को समझना चाहिए. जिस विषय को आपने चुन लिया है, उसके बारे में सारी जानकारी आपके पास होनी चाहिए. विषय को हल्के में नहीं लेना चाहिए.
बीएएसी की पढ़ाई के साथ ही रीट की परीक्षा दे दी थी
सुरभि ने बताया कि मैंने बीएएसी की पढ़ाई के साथ ही रीट की परीक्षा दी थी. सभी तरह के कांसेप्ट दूर करने का प्रयास किया. मैंने कोचिंग की कुछ बुक्स पढ़ने के साथ छठी से आठवीं तक की बुक्स को खूब पढ़ा था. कई बार तो समझ नहीं आता था कि क्या क्या पढूं. लेकिन बाद में लगा कि मुझे छोटे कांसेप्ट दूर करने चाहिए. इस परीक्षा का आधार भी ये ही था, जो मैंने समय पर पकड़ लिया
सुरभि कहती हैं कि अभी मैं बीएएसी कर रही हूं. इसके बाद राजस्थान प्रशासनिक सेवा के लिए प्रयास करूंगी. मैं आम लोगों की समस्याओं को दूर करने का प्रयास करना चाहती हूं.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it