राजस्थान

चचेरी बहन का रेप: छुट्टियां मनाने पहुंचा था हैवान भाई, बनाया हवस का शिकार

Janta Se Rishta Admin
7 Nov 2021 2:50 PM GMT
चचेरी बहन का रेप: छुट्टियां मनाने पहुंचा था हैवान भाई, बनाया हवस का शिकार
x

DEMO PIC 

शर्मनाक घटना

जोधपुर के खेड़ापा थाना इलाके में रिश्तों को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां एक किशोर ने अपनी नाबालिग चचेरी बहन के साथ बार-बार रेप (Rape) किया जिससे वह गर्भवती (Pregnant) हो गई. अब इस पीड़िता ने बेटी को जन्म दिया है. नाबालिग ने जोधपुर के उम्मेद अस्पताल में शुक्रवार को बेटी को जन्म दिया. उसके बाद इस मामले का खुलासा हुआ. पीड़िता दसवीं कक्षा में पढ़ती है. उसके साथ उसके चाचा के बेटे ने ही रेप किया जिससे वह गर्भवती हो गई. आरोपी चेचेरा भाई भी नाबालिग बताया जा रहा है. पुलिस आरोपी की उम्र की पुष्टि के लिए उसके स्कूल का रिकॉर्ड निकलवा रही है.

जानकारी के अनुसार पीड़िता के परिवार ने लोकलाज के चलते पहले यह बात छुपा कर रखी. लेकिन अब पुलिस और बाल कल्याण समिति की ओर से लगातार की गई काउंसलिंग के बाद आखिरकार पीड़िता और उसके परिजनों ने जुबान खोली तो हकीकत सामने आई है. रिश्तों को शर्मसार कर देने वाली इस घटना में पुलिस ने नाबालिग आरोपी के खिलाफ पोक्सो एक्ट की धाराओं के तहत रेप का मामला दर्ज किया है. अब पुलिस की टीमें आरोपी की तलाश में जुटी है. पुलिस का दावा है कि जल्द ही आरोपी को पकड़ लिया जायेगा. इधर प्रसव के बाद नाबालिग छात्रा की स्थिति में सुधार है. परिजनों और पीड़िता को नवजात को अपनाने से इनकार कर दिया है. बताया जा रहा है कि उसके परिजन नवजात को बाल कल्याण समिति के मार्फत शिशु गृह को सौंपेंगे.

खेड़ापा थानाधिकारी के अनुसार गर्मियों की छुट्टियों में पीड़िता के घर आए उसके चचेरे भाई ने उसके साथ ज्यादती की थी. शर्म के मारे वह नहीं बोली. इसका फायदा उठाते हुये आरोपी ने उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया. इसके कारण वह गर्भवती हो गई. परिवार के लोगों ने समाज की शर्म के मारे बात को छिपाये रखा. उसके बाद तीन पहले पीड़िता को प्रसव पीड़ा हुई तो उसे उम्मेद अस्पताल में भर्ती कराया गया. वहां से इसकी सूचना बाल कल्याण समिति और खेड़ापा थाना को मिली. बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष डॉक्टर धनपत गुर्जर ने अस्पताल अधीक्षक को बालिका के स्वास्थ्य को लेकर सजगता बरतने के निर्देश दिए. इसके साथ ही काउंसलिंग के प्रयास किये. लेकिन 2 दिन तक परिजनों ने चुप्पी साधे रखी. आखिरकार बाल कल्याण समिति और पुलिस की ओर से ढांढस बंधाये जाने के बाद पीड़िता और उसके परिजनों ने सच्चाई बताई.

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it