राजस्थान

कांग्रेस की प्रीति शक्तावत ने बनाया रिकॉर्ड, शानदार जीत के साथ बनीं पहली महिला MLA

Renuka Sahu
3 Nov 2021 3:31 AM GMT
कांग्रेस की प्रीति शक्तावत ने बनाया रिकॉर्ड, शानदार जीत के साथ बनीं पहली महिला MLA
x

फाइल फोटो 

कांग्रेस की प्रीति शक्तावत ने वल्लभनगर में अपनी शानदार जीत दर्ज कराने के साथ ही नया रिकॉर्ड भी बना दिया है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। कांग्रेस की प्रीति शक्तावत (Preeti shaktawat) ने वल्लभनगर में अपनी शानदार जीत दर्ज कराने के साथ ही नया रिकॉर्ड भी बना दिया है. प्रीति शक्तावत कांग्रेस के गढ़ माने जाने वाले उदयपुर जिले के वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र (Vallabhnagar Assembly) की पहली महिला विधायक (First Woman MLA) बन गई हैं. प्रीति शक्तावत ने यहां राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के उम्मीदवार उदयलाल डांगी को 20606 मतों से पराजित किया है. यहां बीजेपी की जमानत जब्त हो गई और वह चौथे स्थान पर रही. प्रीति शक्तावत मेवाड़ में कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे गुलाब सिंह शक्तावत की पुत्रवधू है. इससे पहले उनके पति गजेन्द्र सिंह शक्तावत यहां से विधायक थे. गजेन्द्र सिंह शक्तावत के निधन के कारण यह सीट खाली हुई थी.

नवनिर्वाचित विधायक प्रीति शक्तावत का जन्म 23 जुलाई 1973 को उदयपुर में हुआ. वल्लभनगर के दिवंगत पूर्व विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावत की धर्मपत्नी प्रीति की प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश कानपुर में हुई थी. प्रीति के पिताजी वहां जेके कंपनी कार्यरत थे. उसके बाद आगे की शिक्षा सेंट मैरी और सेंट्रल एकेडमी स्कूल से प्राप्त की. कॉलेज शिक्षा मीरा गर्ल्स कॉलेज से प्राप्त की और बीएड की डिग्री निम्बार्क टीचर कॉलेज से प्राप्त की है.
बास्केटबॉल और हैंडबॉल की राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी रह चुकी हैं
पति गजेंद्र सिंह शक्तावत के राजनीतिक करियर में साथ देने वाली प्रीति की कुकिंग में विशेष रूचि है. प्रीति बास्केटबॉल और हैंडबॉल में राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी रह चुकी हैं. प्रीति बताती है कि उनके दादाजी जोरावर सिंह झाला राजस्थान के मुख्य सचिव रह चुके हैं. पिताजी बिरला में परचेज मैनेजर के पद पर रहे और माता बड़ी सादड़ी से प्रधान रह चुकी हैं और 2003 में बड़ी सादड़ी से विधायक का चुनाव भी लड़ चुकी हैं.
पति के अधूरे रहे कार्यों को पूरा करना प्राथमिकता
विधायक शक्तावत के 2 पुत्रियां और एक पुत्र है. बड़ी बेटी हितैषी पीएचडी कर रही है. छोटी बेटी गौरवी दिल्ली यूनिवर्सिटी में अध्ययनरत है. बेटा विंध्यराज सिंह इंदौर के एक निजी स्कूल में पढ़ाई कर रहा है. उन्होंने कहा कि चुनाव जीतने के बाद पहली प्राथमिकता पति गजेन्द्र सिंह शक्तावत के अधूरे विकास कार्यों को को पूरा करना होगी. सबसे पहले क्षेत्र में पानी की समस्या को दूर करने के साथ ही किसानों के हित के कार्य किए जाएंगे.
वल्लभनगर में यह रहा वोटों का गणित
वल्लभनगर में कांग्रेस की प्रीति शक्तावत को 65713 मत मिले. उनके प्रतिद्वंदी आरएलपी के उदयलाल डांगी को 45107 मत प्राप्त हुए. तीसरे नंबर पर जनता सेना के रणधीर सिंह भींडर रहे. उनको 43817 मिले. चौथे नंबर पर बीजेपी रही. बीजेपी के हिम्मत सिंह झाला को 21443 वोट मिले. इसके अलावा बीटीपी के सुख संपत बागड़ी मीणा को 938, निर्दलीय उम्मीदवार गजेंद्र को 492, नरेंद्र चौधरी को 710, भैंरूलाल कालबेलिया को 1098 और विजय कुमार वीरवाल को 1603 मत प्राप्त हुए. यहां 2112 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया है.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it