राजस्थान

चित्तौड़गढ़ः बेगूं उप कारागृह में चिमनी की जाली काटकर फरार हुए तीन बंदी, लूट और दुष्कर्म के मामले में थे बंद

Sonali
17 Nov 2021 7:19 AM GMT
चित्तौड़गढ़ः बेगूं उप कारागृह में चिमनी की जाली काटकर फरार हुए तीन बंदी, लूट और दुष्कर्म के मामले में थे बंद
x
जिले के बेगूं उप कारागृह से मंगलवार को तीन बंदी फरार हो गए. तीनों बंदी उप कारागृह की रसोई में लगी धुआं निकलने वाली चिमनी की जाली काट कर भागे हैं. जेल प्रशासन ने पुलिस को सूचना दी है.

जनता से रिश्ता। जिले के बेगूं उप कारागृह से मंगलवार को तीन बंदी फरार हो गए. तीनों बंदी उप कारागृह की रसोई में लगी धुआं निकलने वाली चिमनी की जाली काट कर भागे हैं. जेल प्रशासन ने पुलिस को सूचना दी है. इसके बाद पुलिस ने बंदियों की फोटो और हुलिए की जानकारी जुटा कर नाकाबंदी करा दी है.

जानकारी के मुताबिक बेगूं उप कारागृह से शाम को फरार हुए तीनों बंदी लूट और दुष्कर्म के मामले में बंद थे. शाम को जेल प्रशासन की ओर से बंदियों की गणना की गई, जिसमें तीन बंदी कम मिले थे. इसके बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया. मामले की सूचना बेगूं थाना पुलिस को दी गई. इस पर बेगूं पुलिस उप अधीक्षक राजेंद्रसिंह जैन मय जाप्ता मौके पर पहुंचे.
पुलिस ने जांच की तो सामने आया कि जेल में रसोई से धुआं निकलने की चिमनी से बंदी फरार हुए हैं. इस संबंध में बेगू जेल प्रभारी प्रहलाद गुर्जर ने रिपोर्ट दी है. इसमें बताया कि शाम को 5.50 बजे भोजन वितरण के दौरान जेल बंद होने के समय अचानक लाइट चली गई थी. इस दौरान जेल प्रशासन ने बंदियों की हाजिरी की. इसमें सामने आया कि तीन बंदी कम थे.
जांच में पता चला कि कंजर बस्ती मंडावरी निवासी सुनील, बेगूं थाना क्षेत्र के पाड़ावास निवासी कैलाश और मंडावरी निवासी बिर्मल उर्फ निर्मल फरार हुआ है. बेगूं पुलिस उप अधीक्षक राजेंद्र सिंह जैन ने बताया कि तीन बंदी मंगलवार को फरार हो गए. जिसकी जानकारी जेल प्रशासन को शाम को मिली. उन्होंने बताया कि जेल से जेल से इनके फोटो जुटाए हैं. इसके आधार पर जिले के सभी थाना क्षेत्रों में नाकाबंदी करवाकर तलाशी शुरू कर दी है.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it