राजस्थान

करंट से झुलसा बच्चा, तड़पता रहा, मौके पर ही तोड़ा दम

Gulabi Jagat
6 Aug 2022 4:22 AM GMT
करंट से झुलसा बच्चा, तड़पता रहा, मौके पर ही तोड़ा दम
x
भरतपुर में गुरुवार को 9 साल के बच्चे की करंट लगने से मौत हो गई। हादसे के बाद भी उसे दर्द होता रहा। परिजन उसे इलाज के लिए अस्पताल ले गए, लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई।
घटना गुरुवार शाम पांच बजे जिले के चिकसाना थाना क्षेत्र के नगला नाऊ गांव की है। हादसा बिजली के तार की चपेट में आने से हुआ। कृष्ण (9) बालक तारे को छूकर बुरी तरह झुलस गया। बच्चे को भरतपुर के आरबीएम अस्पताल ले जाया गया। शुक्रवार सुबह पोस्टमॉर्टम के बाद बच्चे का शव परिजनों को सौंप दिया गया।
कृष्णा के परिवार के सदस्य वनय सिंह ने बताया कि गांव में तीसरी बार भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है। गुरुवार को अचानक स्पीकर से आवाज आना बंद हो गई। इसके बाद योजनाकारों ने स्पीकर से ऊंची हवेली बनाने को कहा। इस पर स्पीकर कृष्णा के घर के पास बनी हवेली में शिफ्ट हो रहे थे। शाम करीब पांच बजे हवेली में स्पीकर लगाने का काम शुरू हुआ। कृष्णा के घर के पास से 33 केवी की लाइन गुजरती है। स्पीकर इंस्टॉलर ने स्पीकर को कृष्णा की छत पर फेंक दिया। ऐसे में वह तार 33 केवी लाइन को छू गया।
हादसे के वक्त कृष्णा छत पर खेल रहा था
कृष्ण की छत पर तारों की गठरी पड़ी थी। किसी को नहीं पता था कि तार में करंट चल रहा था और उसने 33 केवी लाइन को छू लिया था। कृष्ण के बगल में घर की छत पर एक युवक बैठा था, जिसने कृष्ण को डोरी का गट्ठर उठाने को कहा। कृष्ण ने जैसे ही तार उठाया, वह चौंक गया और उसका शरीर बुरी तरह जल गया। कृष्ण के रोने की आवाज सुनकर, उनकी मां कविता, जो खाना बना रही थीं, छत पर पहुंच गईं, लेकिन तब तक कृष्ण बुरी तरह जल चुके थे। कृष्ण की मां ने आवाज उठाई तो कई लोग कृष्ण की छत पर पहुंच गए। लेकिन करंट इतना तेज था कि कृष्ण की मौत हो गई।
कृष्णा सबसे छोटे थे
कृष्णा 9 साल का था और तीन भाइयों में सबसे छोटा था। छोटा होने के कारण घर में दोनों भाइयों से ज्यादा लाड़-प्यार करने लगा। कृष्णा तीसरी कक्षा में पढ़ रहा था। कृष्ण के दो भाई पुष्कर 13 वर्ष और कान्हा 11 वर्ष भी पढ़ते हैं। कृष्णा के पिता ड्राइवर हैं। कृष्णा की मौत के बाद घर में मातम छाया है। पुलिस ने सुबह पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta