राजस्थान

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पहुंचे जोधपुर, महिपाल मदेरणा को दी श्रद्धांजलि

Kunti
22 Oct 2021 3:37 PM GMT
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पहुंचे जोधपुर, महिपाल मदेरणा को दी श्रद्धांजलि
x
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) शुकवार को लंबे समय बाद अपने गृह जिले जोधपुर के दौरे रहे.

जोधपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) शुकवार को लंबे समय बाद अपने गृह जिले जोधपुर के दौरे रहे. सीएम गहलोत ने महिपाल मदेरणा (Mahipal Maderna) को श्रद्धांजलि दी. बिना नाम लिए केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि जब यह कोई सरकार गिराने का प्रयास करते हैं या राज्यों में चुनाव आते हैं तो इनकी स्कीम होती है कि कहां छापे डलवाने है, कहां सीबीआई जाएगी, कहां ईडी जाएगी. इसी वजह से मेरे परिवार या मेरे मिलने वालों पर एक साथ छापे मारे गए थे. उन्होंने कहा कि उस समय 34 दिन तक मेरे एमएलए ने सरकार का, कांग्रेस का साथ निभाया था. जैसलमेर और जयपुर में समय बिताया. अगर वो बाहर जाते तो दस करोड़ रुपए तक का ऑफर था. लेकिन एक भी एमएलए बाहर नहीं गया छोड़ कर.मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा,' छह बसपा एमएएल पार्टी में मर्ज हुए. हमने एक रुपए भी नहीं दिया. जब चुनाव होता है तो पैसा खर्च होता है, लेकिन इन विधायकों ने उसकी भी परवाह नहीं की. वे बिना पैसे बिना लालच हमारे साथ आए

यह राजस्थान में ही होता है. यह गर्व करने वाली बात है, जबकि एमएलए का खर्चा हेाता है. लेकिन किसी ने मांगा ही नहीं. यह गर्व करने वाली बात है. महंगाई पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि पेट्रोल डीजल और गैस के दाम बढ़ने से आमजन परेशान है. इससे महंगाई भी बढ़ रही है. केंद्र सरकार इस पर ध्यान नहीं दे रही है. उनका लगता है कि जनता में रिकएक्शन नहीं है, लेकिन रिएक्शन है. जनता बोल नहीं रही है. सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और प्रदेश प्रभारी अजय माकन शुक्रवार को चाडी पहुंचे जहां उन्होंने पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा के निधन पर परिवार से शोक व्यक्त किया.


सीएम गहलोत ने लीला मदरेणा को सांत्वना दी
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को स्वर्गीय महिपाल मदेरणा के पैतृक निवास चाडी लक्ष्मण नगर पहुंचे और स्वर्गीय महिपाल मदेरणा को श्रद्धांजलि दी. उनकी धर्मपत्नी और जिला प्रमुख लीला मदेरणा को तथा विधायक बेटी दिव्या मदेरणा को सांत्वना प्रदान की. सीएम गहलोत शोक सभा में करीब 20 मिनट रुके. इस दौरान उन्होंने दिव्या मदेरणा से बातें की तथा इसके बाद वे उनके निवास में जाकर महिपाल मदेरणा के बड़े भाई हरलाल मदेरणा से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it