पंजाब

पंजाब चुनाव के छह बड़े चेहरे: मतदान से एक दिन पहले सभी नेताओं के अपने-अपने दावे, अब जनता की बारी

Renuka Sahu
19 Feb 2022 3:27 AM GMT
पंजाब चुनाव के छह बड़े चेहरे: मतदान से एक दिन पहले सभी नेताओं के अपने-अपने दावे, अब जनता की बारी
x

फाइल फोटो 

पंजाब की धरती इस बार बड़े बदलाव के लिए तैयार है। जहां नेता अपने-अपने वादे और दावे कर रहे हैं, वहीं जनता सभी के इरादे भांप रही हैं।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। पंजाब की धरती इस बार बड़े बदलाव के लिए तैयार है। जहां नेता अपने-अपने वादे और दावे कर रहे हैं, वहीं जनता सभी के इरादे भांप रही हैं। मतदाता ऐसे नेता को चुनना चाह रहे हैं, जो पंजाब की तस्वीर बदल दे। सूबे की सियासत में हमेशा से कांग्रेस और अकालियों का दबदबा रहा है, लेकिन इस बार नए खिलाड़ी भी मैदान में हैं।

पंजाब के राजनेता वादों के सहारे सत्ता के सिंहासन पर बैठना चाह रहे हैं। वादों की लंबी चौड़ी फेहरिस्त के साथ चुनाव मैदान में जनता को लुभा रहे हैं। इस कड़ी में कांग्रेस ने सिद्धू के पंजाब मॉडल के साथ चरणजीत सिंह चन्नी के वादों को भी वरीयता दी है। जबकि पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब के युवाओं को रोजगार और उद्योग लगाने का दावा कर रहे हैं। आप के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार भगवंत मान का दावा है कि यदि सत्ता में आए तो पंजाब की तस्वीर बदल देंगे। वहीं शिअद प्रधान सुखबीर बादल लोक लुभावन वादे कर जनता का विश्वास जीतने में लगे हैं। प्रचार थम चुका है, 20 फरवरी को जनता की बारी है।
1- मेरा लक्ष्य पंजाब के लोगों की सेवा करना: चरणजीत सिंह चन्नी
पंजाब के मौजूदा और कांग्रेस के अगले मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी चरणजीत सिंह चन्नी का कहना है कि उनका लक्ष्य पंजाब के लोगों की सेवा करना है। उन्हें मौजूदा सरकार में मात्र 111 दिन ही मुख्यमंत्री के रूप में कार्य करने के लिए मिले, जिनमें उनके कामकाज के तरीके को आम लोगों ने सराहा है। विधानसभा चुनाव के लिए चन्नी ने ही राज्य में कांग्रेस के प्रचार की कमान भी संभाली। पार्टी के भीतर की खींचतान के बावजूद मुख्यमंत्री चन्नी इस चुनाव में कांग्रेस को त्नदावेदार नंबर एकत्न बनाए रखने में कामयाब रहे हैं।
पार्टी के मैनिफेस्टो में देरी होते देख चन्नी ने बीते सोमवार ही अपना मॉडल जनता के सामने रखा, जिसमें जनता से शिक्षा, सेहत, रोजी-रोटी और पक्की छत का वादा किया। इनमें पक्की छत का वादा सरकार बनने के छह माह के भीतर पूरा करने और हर साल में एक लाख सरकारी नौकरियां देने का वादा किया गया। हालांकि इससे पहले पंजाब प्रदेश कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिद्धू भी अपना पंजाब मॉडल पेश कर चुके थे।
शुक्रवार को प्रचार के अंतिम दिन कांग्रेस की ओर से जारी मैनिफेस्टो में चन्नी और सिद्धू के मॉडल को स्थान दिया। चन्नी ने अपने मॉडल में सरकारी शैक्षिक संस्थानों में एससी विद्यार्थियों को मुफ्त शिक्षा, निजी संस्थानों में एससी, बीसी व जनरल को ईडब्ल्यूएस स्कॉलरशिप, युवाओं को अपना रोजगार स्थापित करने के लिए भी ब्याज मुक्त लोन, सरकार बनने के पहले साल में एक लाख नौकरियां देना, मुफ्त सेहत सुविधाएं और सरकार बनते ही छह माह में जरूरतमंदों के घरों को पक्का करने की बात कही गई थी, जिसे पार्टी ने हूबहू मेनिफेस्टो में शामिल कर लिया है। चन्नी का कहना है कि उन्होंने अपने 111 दिनों के कार्यकाल की उपलब्धियों को आगे रखते हुए कहा है कि अगर उन्हें 5 साल काम करने का मौका मिले तो वह अपने 111 दिनों वाले कार्यों को आगे भी जारी रखेंगे।
2- पंजाब बदलने जा रहा है आप बनाने जा रही सरकार: भगवंत मान
पंजाब में आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार भगवंत मान ने कहा कि 20 फरवरी के बाद से पंजाब बदलने जा रहा है। आम आदमी पार्टी दो तिहाई सीटें जीतकर पंजाब में सरकार बनाने जा रही है। यहां से माफिया राज का अंत होगा। पंजाब में कई समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। पंजाब में उनकी सरकार आने पर युवाओं को रोजगार देने पर फोकस रहेगा। माफिया राज खत्म होगा। मैं एक मध्यमवर्गीय परिवार से हूं, यहां पहुंचने के बारे में कभी सोचा नहीं था।
भगवंत मान ने कहा कि मैं पार्टी का दिल से धन्यवाद करता हूं कि उन्होंने मुझ पर इतना बड़ा विश्वास किया। मैं पंजाब की जनता को धन्यवाद करता हूं कि उन्होंने मुझ पर विश्वास किया। पंजाब में हम प्रचंड बहुमत से जीतेंगे और यहां मजबूत सरकार आएगी। हम पंजाब को दोबारा रंगला पंजाब बनाएंगे। पंजाब में बेरोजगारी बहुत बड़ा मुद्दा है। युवा डिप्रेशन में चला गया है इसलिए हम लोगों को रोजगार देंगे और शिक्षा को ठीक करेंगे। यहां पर माफिया राज को खत्म करके खजाना भरना है और पंजाब का कर्ज उतारना है और लोगों को सहूलियत देनी है।
3- कैप्टन का वादा रोजगार देकर बदलेंगे पंजाब की तस्वीर: कैप्टन अमरिंदर सिंह
पूर्व मुख्यमंत्री और पंजाब लोक कांग्रेस के प्रधान कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उनकी सरकार बनी तो प्राथमिकता के आधार पर केंद्र के सहयोग से पंजाब में बड़े उद्योग लगाकर युवाओं को रोजगार दिए जाएंगे। जिससे उन्हें अपने परिवारों को छोड़कर नौकरियों की तलाश में विदेश का रुख न करना पड़े लेकिन बार्डर स्टेट पंजाब में इंडस्ट्रीज तभी आएंगी, जब यहां के हालात सुधरेंगे। यह तभी संभव है, जब प्रदेश में भाजपा गठबंधन की सरकार बनती है, जो कि पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम है।
पंजाब पर तीन लाख करोड़ का ऋण है। सरकार बनने पर प्रदेश के आर्थिक हालत में सुधार के लिए ठोस कदम उठाए जाएंगे। घाटे में चल रहे विभागों, बोर्ड व कारपोरेशन खास तौर से पावरकाम पर पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। कैप्टन ने कहा कि पंजाब को रेत, ड्रग व ट्रांसपोर्ट माफिया से मुक्त कराया जाएगा। इसके अलावा गिरते जल स्तर में सुधार के लिए किसानों को धान व गेहूं की परंपरागत खेती चक्र से निकालकर अन्य फसलों के प्रति जागरुक किया जाएगा।
4- पंजाब को अकालियों से ज्यादा कोई नहीं समझ सकता: सुखबीर सिंह बादल
शिअद प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि पंजाब को अकाली दल से ज्यादा कोई नहीं समझ सकता। 2007 से 2017 तक सरकार ने जो किया वह पंजाब की जनता को मालूम है। शिअद गढबंधन की सरकार बनने के बाद पंजाब को तेजी के साथ विकास के पथ पर आगे ले जाएंगे। पिछली सरकार के दौरान जो वादे रह गए उन्हें भी इस बार पूरा किया जाएगा।
केजरीवाल द्वारा लगातार कहा जा रहा कि सभी विरोधी दल आप की सरकार को नहीं बनना देना चाहते। सुखबीर ने कहा कि केजरीवाल बड़ी सफाई के साथ झूठ बोल रहे हैं लेकिन लोगों ने आम आदमी पार्टी को नकार दिया है। पंजाब के लोग जानते है कि अपना और पराया कौन है। सुखबीर ने दावा किया कि मतदान वाले दिन प्रदेश के लोग शिअद को खुलकर वोट करेगें और पंजाब में फिर शिअद सरकार लाएंगे।
केजरीवाल सिर्फ पोस्टर नेता है जो दिल्ली सरकार का पैसा विज्ञापनों में बर्बाद कर रहे हैं। असलियत में दिल्ली के अंदर केजरीवाल ने कोई भी ऐसा वादा पूरा नहीं किया जो उन्होंने चुनाव के दौरान दिल्ली के वोटरों के साथ किया था। दिल्ली का फेल मॉडल पंजाब पर थोपने के लिए वे दिल्ली सरकार के खजाने का पैसा पंजाब में चुनाव प्रचार पर फूंक रहे और साढे़ आठ सौ करोड़ सिर्फ विज्ञापन के लिए ही बजट रख दिया। जिस से सपष्ट होता कि केजरीवाल सिर्फ भावुक होकर पंजाबियों के वोट बटोरने का प्रयास कर रहे हैं।
5- पंजाब के विकास के लिए पूरी ताकत झोंक दूंगा: नवजोत सिंह सिद्धू
नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब उनके दिल में बसा है। सूबे के विकास के लिए पूरी जान लगा दूंगा। मैंने अपने हलके के विकास में कोई कसर बाकी नहीं रखी है। आज कुछ लोग लंबित कामों को लेकर ही उन्हें निशाने पर लेकर गंदी राजनीति कर रहे हैं। कुछ लोगों के भड़काने पर उनके कुछ साथी चले गए लेकिन मुझे उम्मीद है कि जीत हमेशा सच की होगी। पार्टी कार्यकर्ताओं को हमेशा अपना भाई, बहन और मां माना है।
मेरी बस इतनी सी खता है कि मैं बात दिल में नहीं रखता और न ही किसी के खिलाफ दिल में जहर रखता हूं। जो होता है बोल देता हूं, इसीलिए लोग मुझे बड़बोला भी कह देते हैं। नवजोत सिंह सिद्धू ने लोगों को 20 फरवरी वाले दिन मतदान से पहले मंथन करने की अपील की। जनता के नाम संदेश में सिद्धू ने कहा कि हलके के लोग उनके दिल में बसे हैं। वोट डालने से पहले इतना भर याद रखना। मैंने हमेशा लोगों के भले और हलके के विकास का सोचा, जितना ज्यादा से ज्यादा कर सका किया। कुछ लोगों द्वारा साथ छोड़ने से दुखी जरूर हैं लेकिन विश्वास है कि अच्छे लोग हमेशा साथ चलेंगे।
6- परंपरागत दलों को किनारे लगा रहे हैं पंजाब के लोग: प्रेम सिंह भंगू
संयुक्त किसान मोर्चा का अहम हिस्सा रहे और संयुक्त समाज मोर्चा की तरफ से चुनाव लड़ रहे किसान नेता एडोवेकट प्रेम सिंह भंगू का कहना है कि यह चुनाव पंजाब के लिए काफी महत्वपूर्ण है। पंजाब में बड़ा बदलाव होने जा रहा है और पंजाब की जनता की तरफ से संयुक्त समाज मोर्चा को काफी समर्थन मिल रहा है। गांव में किसान व महिलाओं की तरफ से संयुक्त समाज मोर्चा को जबरदस्त तरीके से समर्थन मिल रहा है। पंजाब में परंपरागत पार्टियों को किनारे किया जा रहा है।
प्रेम सिंह भंगू का कहना है कि किसानों ने एकजुट होकर कृषि कानूनों के खिलाफ संघर्ष किया और नतीजा सामने था। इस बार का चुनाव किसानों कि संघर्ष की कहानी बयां करेगा। इस बात को कोई न भूले कि किसानों ने अपने एकजुट होने की मिसाल पूरे देश के सामने रखी है। हमारा संयम ही हमारी जीत का कारण बनेगा। जीत के साथ ही पंजाब के किसानों को इतना सशक्त बनाएंगे कि वे किसी की मदद के मोहताज नहीं रहेंगे। आमतौर पर हर बात के लिए किसानों को सरकार की तरफ देखना पड़ता है। हम सिर्फ वादे नहीं करेंगे अपने इरादे भी मजबूत रखेंगे।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta