पंजाब

पंजाब: कैदी की पीठ पर गरम लोहे से लिखा आतंकवादी, कैदी ने की जज से शिकायत

Dev upase
3 Nov 2021 6:59 PM GMT
पंजाब: कैदी की पीठ पर गरम लोहे से लिखा आतंकवादी, कैदी ने की जज से शिकायत
x
बरनाला की सेंट्रल जेल के अफसरों पर आरोप

जनता से रिस्ता वेबडेसक | पंजाब में बरनाला की सेंट्रल जेल के अफसरों पर गंभीर आरोप लगे हैं। मानसा में नशा तस्करी से जुड़े केस की पेशी पर आए कैदी ने आरोप लगाया कि जेल में उसके साथ बुरी तरह मारपीट की गई। इतना ही नहीं, लोहे की गर्म सलाखों से उसकी पीठ पर 'आतंकवादी' भी लिख दिया गया। कैदी ने इसकी शिकायत मानसा के चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की अदालत में दी है।

इस बीच पंजाब के डिप्टी सीएम और गृहमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने बरनाला जेल में कैदी के साथ हुए अमानवीय सलूक का नोटिस लेते हुए ADGP (जेल) को पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। गृहमंत्री के आदेश के बाद ADGP (जेल) पीके सिन्हा ने फिरोजपुर रेंज के DIG तजिंदर सिंह मोड़ को इस केस का जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया है।

मानसा में कैदी की तरफ से चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की अदालत में दी गई शिकायत।

पेशी के दौरान जज से की शिकायत

कैदी की वकील बलवीर कौर ने बताया कि पटियाला जिले में समाना एरिया के बलमगढ़ गांव में रहने वाले कर्मजीत सिंह को बरनाला में दर्ज एक केस में सजा हो चुकी है और वह बरनाला की सेंट्रल जेल में अपनी सजा काट रहा है। कर्मजीत सिंह के खिलाफ मानसा सदर थाने में भी ड्रग तस्करी का एक मामला दर्ज है। इसी केस की पेशी पर मानसा कोर्ट में आए कर्मजीत सिंह ने यहां चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट के सामने पेश होकर अर्जी देते हुए आरोप लगाया कि बरनाला सेंट्रल जेल में उसके साथ बहुत गंदा व्यवहार किया जा रहा है।

पीठ पर लिखा गया 'आतंकवादी' जज को दिखाया

कर्मजीत सिंह ने अपनी शिकायत में कहा कि दो दिन पहले ही जेल के अधिकारियों ने न सिर्फ उसके साथ बुरी तरह मारपीट की बल्कि उसके शरीर को गर्म सलाखों से दाग भी दिया। इतना ही नहीं, जेल के अधिकारियों ने गर्म सलाखों से उसकी पीठ पर 'आतंकवादी' भी लिख दिया। कर्मजीत सिंह ने अपनी पीठ पर लिखा गया 'आतंकवादी' जज को भी दिया। मामले को गंभीरता से लेते हुए मानसा के चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट ने जांच के आदेश दे दिए।

जेल में कुप्रबंधों के खिलाफ आवाज उठाने की सजा

जज के सामने दी गई शिकायत में कैदी कर्मजीत ने कहा कि बरनाला सेंट्रल जेल में व्यवस्थाओं का बुरा हाल है। वहां खाने में कोई सब्जी नहीं दी जाती और दाल भी तय मानदंड के अनुसार नहीं बनती। इसकी वजह से वहां बंद कैदियों की सेहत पर बुरा असर पड़ रहा है। रात के समय जेल में कोई डॉक्टर भी नहीं रहता। जब उसने जेल के इन कुप्रबंधों के खिलाफ आवाज उठाई तो जेल सुपरिंटेंडेंट, डीएसपी और चक्की हवलदार ने उसे बुरी तरह पीटा और टॉर्चर किया।

डिप्टी सीएम ने दिए जांच के आदेश

पंजाब के डिप्टी सीएम और गृहमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने बरनाला सेंट्रल जेल में कैदी के साथ हुई घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। पंजाब में जेल महकमा रंधावा के पास ही है। कैदी की पीठ को गर्म सलाखों से दागे जाने का गंभीर नोटिस लेते हुए डिप्टी सीएम ने पंजाब के एडीजीपी (जेल) पीके सिन्हा को इस घटना की गहराई से जांच करने के आदेश दिए हैं। रंधावा ने एडीजीपी को निर्देश दिए कि मामले की तह तक जाने के लिए तुरंत कैदी कर्मजीत सिंह का मेडिकल करवाया जाए।

फिरोजपुर रेंज के डीआईजी करेंगे जांच

एडीजीपी (जेल) पीके सिन्हा ने बताया कि इस केस का जांच अधिकारी (IO) फिरोजपुर रेंज के डीआईजी तजिंदर सिंह मोड़ को बनाया गया है। तजिंदर सिंह मोड़ 4 नवंबर को एक पुलिस अफसर के साथ बरनाला जेल पहुंचकर केस की जांच करेंगे।

कैदी की तरफ से मानसा में चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट को दी गई शिकायत।

जेल में गैंग बना रखा है आरोपी ने : सुपरिटेंडेंट

उधर बरनाला जेल के सुपरिंटेंडेंट बलवीर सिंह ने कर्मजीत सिंह के आरोपों को नकारते हुए कहा कि इनमें कोई सच्चाई नहीं है। जेल सुपरिंटेंडेंट ने कहा कि कर्मजीत सिंह पर 12 अलग-अलग मामलों में क्रिमिनल केस दर्ज हैं। उससे जेल में कई बार नशा और मोबाइल फोन बरामद हो चुका है। कर्मजीत सिंह ने कुछ अन्य कैदियों के साथ मिलकर जेल में गैंग बना रखा है और वह अन्य कैदियों को तंग करता है।

बलवीर सिंह के अनुसार, जब उन्होंने जेल का माहौल सुधारने के लिए कर्मजीत सिंह और उसके साथियों पर सख्ती की तो अब वह झूठे आरोप लगा रहा है। इससे पहले भी कर्मजीत सिंह प्रदेश के अलग-अलग जिलों की जेलों में बंद रहते हुए खुद को भी आग लगा चुका है। उसके कारनामों से पूरा जेल महकमा वाकिफ है।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it