पंजाब

पंजाब चुनाव 2022 : कैप्टन अमरिंदर सिंह का अपने गढ़ पटियाला में वर्चस्व कायम, पांच सीटें पार्टी के खाते में आईं, चार पर प्रत्याशियों को उतारा

Renuka Sahu
24 Jan 2022 2:15 AM GMT
पंजाब चुनाव 2022 : कैप्टन अमरिंदर सिंह का अपने गढ़ पटियाला में वर्चस्व कायम, पांच सीटें पार्टी के खाते में आईं, चार पर प्रत्याशियों को उतारा
x

फाइल फोटो 

कैप्टन अमरिंदर सिंह का अपने गढ़ पटियाला में वर्चस्व कायम है। जिले की कुल आठ विधानसभा सीटों में से पांच कैप्टन की पंजाब लोक कांग्रेस के हिस्से आई हैं।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। कैप्टन अमरिंदर सिंह का अपने गढ़ पटियाला में वर्चस्व कायम है। जिले की कुल आठ विधानसभा सीटों में से पांच कैप्टन की पंजाब लोक कांग्रेस (पीएलसी) के हिस्से आई हैं। अमरिंदर सिंह ने चार सीटों पर उम्मीदवारों का एलान कर दिया है। पटियाला शहर सीट पर जहां कैप्टन खुद ताल ठोक रहे हैं, वहीं पटियाला देहात से कैप्टन ने अपने नजदीकी मेयर संजीव शर्मा बिट्टू और सन्नौर सीट से अपने सलाहकार रहे भरतइंद्र सिंह चाहल के बेटे विक्रमजीत इंद्र सिंह चाहल को मैदान में उतारा है। समाना से सुरिंदर सिंह खेड़की को प्रत्याशी घोषित किया है। अमरिंदर सिंह की वजह से पटियाला शहर सीट हॉट बन गई है। पटियाला देहात व सन्नौर सीट पर भी सबकी निगाहें हैं।

कैप्टन की पीएलसी और भाजपा के बीच पटियाला जिले में सीटों के बंटवारे को लेकर पेंच फंसा था। एक तरफ जहां कैप्टन पांच सीटों की मांग कर रहे थे, वहीं भाजपा की भी जिले में पांच सीटों पर दावेदारी ठोक रही थी। जिस कारण सीटों की घोषणा में कुछ देरी हुई। पटियाला जिला कैप्टन का गढ़ होने कारण उन्हें फायदा हुआ और आठ में से पांच सीट पीएलसी के हिस्से में आईं।
पटियाला शहर सीट पर कैप्टन के खिलाफ अकाली दल ने हरपाल जुनेजा और आप ने पूर्व मेयर अजीतपाल सिंह कोहली को उतारा है। कांग्रेस ने अभी तक प्रत्याशी घोषित नहीं किया है। पटियाला देहात सीट पर कैप्टन ने मेयर संजीव शर्मा बिट्टू को उतार मुकाबला बेहद रोचक बन दिया है। यहां अकाली दल ने जसपाल सिंह बिट्टू चट्ठा और आप ने डॉ. बलबीर सिंह व कांग्रेस से कैबिनेट मंत्री ब्रह्म मोहिंदरा के बेटे मोहित मोहिंदरा मैदान में हैं।
सन्नौर से कैप्टन के सलाहकार रहे भरतइंद्र सिंह चाहल के बेटे विक्रमजीत इंद्र सिंह चाहल मैदान में हैं। उनके खिलाफ कांग्रेस की तरफ से सिद्धू के नजदीकी हरिंदरपाल सिंह हैरीमान, अकाली दल की तरफ से हरिंदरपाल सिंह चंदूमाजरा और आप से हरमीत सिंह पठानमाजरा चुनाव लड़ रहे हैं।
समाना से कैप्टन के नजदीकी सुरिंदर सिंह खेड़की को प्रत्याशी बनाया गया है। समाना में कांग्रेस की तरफ से मौजूदा विधायक राजिंदर सिंह, आप से चेतन सिंह जोड़ेमाजरा और अकाली दल की तरफ से पूर्व कैबिनेट मंत्री सुरजीत सिंह रखड़ा को प्रत्याशी बनाया गया है।
पटियाला देहात सीट कैप्टन को मिलने से भाजपा नेताओं में निराशा
सीट शेयरिंग में पटियाला देहात सीट भाजपा के खाते में जाने की पूरी संभावना जताई जा रही थी। जब सूची सामने आई तो यह सीट कैप्टन को मिलने से खास तौर से उन भाजपा नेताओं में काफी निराशा है, जो इस हलके में पिछले काफी समय से सक्रिय थे और मजबूत दावेदारी जता रहे थे।
भाजपा की तरफ से इस सीट पर प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य गुरतेज सिंह ढिल्लों के अलावा वरिष्ठ नेता भूपेश अग्रवाल, एसके देव, अजय थापर, जिला प्रधान हरिंदर कोहली दावेदारी जता रहे थे। इस बारे में अमर उजाला से बात करते हुए गुरतेज सिंह ढिल्लों ने माना कि दुख बहुत हुआ है, क्योंकि इस सीट पर उनका हक बनता था। वह पिछले लंबे समय से पटियाला देहात हलके के लोगों की सेवा में जुटे थे।
राजपुरा सीट पर भी फेरबदल की संभावना
राजपुरा सीट को लेकर अभी तस्वीर साफ नहीं हुई है। इस सीट पर अब तक भाजपा की तरफ से पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य हरजीत सिंह ग्रेवाल को मैदान में उतारे जाने की चर्चा थी लेकिन अब फेरबदल की संभावना जताई जा रही है। अमर उजाला से बात करते हुए खुद ग्रेवाल ने माना कि कैप्टन के करीबी जगदीश कुमार जग्गा को भाजपा में ज्वाइन कराके राजपुरा से उतारने की संभावना है। उन्होंने कहा कि गठबंधन में अक्सर कार्यकर्ताओं का नुकसान होता है। पार्टी हाईकमान का फैसला मानना पड़ता है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta